Chanakya niti: चाणक्य अनुसार पिछले जन्म से होता है इन चीजों का कनेक्शन

0

आचार्य चाणक्य की नीतियां विश्व प्रसिद्ध हैं चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र यानी चाणक्य नीति में ऐसे 6 गुणों का वर्णन किया हैं जो व्यक्ति को पिछले जन्म के कर्मों के आधार पर ही मिलते हैं तो आज हम आपको इन्हीं गुणों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं। भोज्यं भोजनशक्तिश्च रतिशक्तिर्वराङ्गना ।
विभवो दानशक्तिश्च नाल्पस्य तपसः फलम् ॥

आचार्य चाणक्य के दूसरे अध्याय में वर्णित श्लोक के माध्यम से आचार्य चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति को उसके पिछले जन्म के आधार पर ही कुछ चीजें प्राप्त होती हैं इनमें सबसे पहले वो भोजन का जिक्र करते हैं वो कहते हैं कि भाग्य में धनी लोगों को ही बेहतर भोजन प्राप्त होता हैं इसके लिए वो पिछले जन्म के कर्मों को कारण बताते हैं। बेहतर भोजन के बाद चाणक्य अच्छी पाचन शक्ति यानी खाने को पचा जाने की शक्ति को अधिक महत्वपूर्ण मानते हैं चाणक्य अनुसार पिछले जन्म के अच्छे कर्म करने वाले लोगों के पास ही खाना पचा जाने की शक्ति होती हैं नहीं तो अच्छे अच्छे लोगों को भोजन से दिक्कत हो जाती हैं।

तीसरे स्थान पर चाणक्य जीवन संगिनी को रखते हैं वो कहते है सुंदर और गुणवान जीवनसाथी का मिलना भी पिछले जन्म के कर्मों पर निर्भर करता हैं गुणवान पार्टनर मिल जाए तो जीवन की आधाी परेशानियां दूर हो जाती हैं। चाणक्य इस श्लोक में कहते हैं कि मनुष्य को खुद पर काम को हावी नहीं होने देना चाहिए। वो कहते हैं कि काम के वश में रहने वाले लोग जल्द ही बर्बाद हो जाते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here