अजय देवगन की फिल्म दे दे प्यार दे के इस सीन पर सेंसर को ऐतराज

0
45

सेंसर बोर्ड अक्सर चर्चा में बना रहता है जब किसी फिल्म पर सेंसर की कैंची चलती तो इस पर चर्चा होना लाजमी हैं। इस बार सीबीएफसी यानी सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने अभिनेता अजय देवगन की फिल्म ‘दे दे प्यार दे’ पर कैंची चलाई हैं। आपको बता दें कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने फिल्म के कुछ सीन और डायलॉग पर आपत्ति जताते हुए बदलाव करने के लिए कहा है।

आपको बता दें कि फिल्म के एक गाने Vaddi Sharaban में अभिनेत्री रकुल प्रीत व्हिस्की की बोतल हाथ में लिए डांस करती दिख रही हैं। सेंसर ने इस सीन को डिलीट करने का आदेश दिया है। इतना ही हीं सेंट्रल बोर्ड ने सुझाव दिया है कि रकुल के हाथ में बोतल की जगह फूलों के गुलदस्ता से रिप्लेस किया जा सकता है।

बोर्ड ने शराब की बोतल वाले सीन पर ही नहीं बल्कि फिल्म के दो डायलॉग पर भी कैंची चलाई है। फिल्म से ‘परफॉर्मेंस बेटर होती है’ के साथ इसके सीन को हटा दिया गया है। इसके अलावा बोर्ड की आपत्ति के बाद ‘मूंज जी के आलू ओह ओह वही अच्छे है कि ये सब झूठ है।’ संवाद को डिलीट कर दिया गया है।

खैर अब ये देखना है कि फिल्म को सेंसर बोर्ड की तरफ से यूए सर्टीफिकेट मिलता है या नहीं। फिल्म में अजय देवगन के अलावा रकुलप्रीत सिंह, तब्बू, अलोक नाथ और जिमी शेरगिल जैसे कलाकार नजर आएंगे। फिल्म का निर्देशनन अकीव अली ने किया है जो 17 मई को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here