BSNL Jobs cut: एक आदेश से BSNL के 20 हजार कर्मचारियों के रोजगार पर संकट

0

सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल की ओर से एक आदेश जारी किया गया है। इस आदेश के बाद हजारों लोगों की नौकरी पर संकट छा गया है। दरअसल, बीएसएनएल ने अपनी सभी इकाइयों को ठेका कार्यों पर खर्चों में कटौती करने का निर्देश दिया है। इससे 20,000 कर्मचारी बेरोजगार हो जाएंगे।थ बीएसएनएल की कर्मचारी यूनीयन की ओर से ये दावा किया गया है।

समाचार एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक, यूनियन ने दावा किया है कि कंपनी के 30 हजार कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को पहले ही बाहर किया जा चुका है। ऐसे कर्मचारियों का पिछले एक साल का भुगतान रोका गया है। यूनियन ने बीएसएनएल के चेयरमैन को एक चिट्ठी लिखी है। इसके जरिए कहा गया है कि स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना के बाद कंपनी की वित्तीय स्थिति खराब हो गई है। विभिन्न शहरों में वर्कर्स की संख्या कम होने से नेटवर्क में खराबी की समस्याएं सामने आई है।

यूनियन ने कहा है कि वीआरएस के बाद BSNL अपने कर्मचारियों को समय पर वेतन तक नहीं दे पा रही है। यूनियन का कहना है कि पिछले 14 महीने से वेतन का भुगतान नहीं होने से 13 ठेका श्रमिक आत्महत्या कर चुके हैं। पिछले दिनों BSNL ने कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों पर खर्च को कम करने को लेकर कदम उठाने का आदेश जारी किया था। साथ ही ठेकेदारों के जरिये कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों से काम लेने में भी कटौती करने को कहा था। बता दें कि कोरोना संकट के चलते देश को आर्थिक परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है।

Read More…
Sushant Singh Rajput case: सुशांत केस में बड़ा खुलासा, ड्रग्स की खरीद-फरोख्त में शामिल थीं रिया
India China clash 2020: अरुणाचल प्रदेश कांग्रेस विधायक का बड़ा बयान, चीनी सेना ने 5 भारतीयों को अगवा किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here