Braking News: Haryana के विधायक अभय चौटाला ने इस्तीफा दिया

0

हरियाणा में इंडियन नेशनल लोकदल के एकमात्र विधायक अभय सिंह चौटाला ने बुधवार को विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने यह कदम तीन कृषि कानूनों के विरोध में और गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई हिंसा के लिए्र किसान नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज करने की वजह से उठाया है। चौटाला यहां ट्रैक्टर पर सवार होकर विधानसभा पहुंचे और अपना इस्तीफा स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता को सौंप दिया, जिन्होंने इसे स्वीकार कर लिया।

अपने इस्तीफे में, उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी किसानों की मांग को स्वीकार नहीं किया जा रहा है, इसलिए वह इस्तीफा दे रहे हैं।

स्पीकर की ओर से जारी बयान के अनुसार, “ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले अभय सिंह चौटाला व्यक्तिगत रूप से मेरे पास आए और अपना इस्तीफा दे दिया। मेरा मानना है कि उन्होंने जो इस्तीफा सौंपा है, वह सभी तकनीकी पहलुओं में सही है। मैंने इसे स्वीकार कर लिया है।”

मीडिया से बात करते हुए, चौटाला ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हिंसा को बढ़ावा देने के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया।

इस महीने की शुरूआत में, पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवी लाल के पोते चौटाला ने स्पीकर को एक ‘सशर्त’ इस्तीफा पत्र भेजा था, जिसमें केंद्र की ओर से 26 जनवरी तक नए कृषि कानूनों को निरस्त करने में विफल रहने पर हरियाणा विधानसभा से इस्तीफा देने की बात कही गई थी।

चौटाला ने अपने पत्र में कहा था कि अगर केंद्र सरकार 26 जनवरी तक तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने में विफल रही तो इस पत्र को विधानसभा से इस्तीफा के रूप में समझा जाना चाहिए।

मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई वाली राज्य की भाजपा सरकार में उनकी पार्टी से अलग हुआ गुट, जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) महत्वपूर्ण गठबंधन है।

जेजेपी नेता और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला पिछले 63 दिनों से कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर राष्ट्रीय राजधानी की सीमा पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों के मुद्दे पर सार्वजनिक रूप से चुप्पी साधे हुए थे।

news sorce आईएएनएस

SHARE
Previous articleDelhi में हिंसा के बाद हरियाणा में हाई अलर्ट
Next articleBudget 2021: 1 फरवरी का इंतजार, निर्मला सीतारमण से इन सेक्टरों में राहत की उम्मीद….
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here