आजाद भारत की वो 5 किताबें जो हर भारतीय को पढ़नी चाहिए

0
165

ऐसे तो आपने कई किताबे पड़ी होंगी लेकिन आज हम आपको स्वतंत्रता दिवस के इस मौके पर ऐसे 5 किताबों के बारे में बता रहे है, जिन्हें आपको जरुर पढना चाहिए, जिससे आपको आज के इस आधुनिक भारत को समझने में आसानी होगी।

इंडिया आफ्टर गांधी

रामचन्द्र गुहा की अंग्रेजी में लिखी इस किताब का अनुवाद आपको भारत की अधिकतर भाषाओं में मिल जाएगा, इस किताब में गुहा आजाद हुए भारत की कहानी बताते है जो भारत को बेहतर रूप से समझने में आपकी मदद करेगी।

इंडियाज स्ट्रगल फ़ॉर फ्रीडम

इतिहासकार बिपीन चंद्र द्वारा लिखित, पुस्तक भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन का एक विस्तृत अवलोकन है। इस किताब में स्वतंत्रता के पहला  युद्ध जो मंगल पांडे से शुरु हुआ से लेकर  महात्मा गांधी के असहयोग और नागरिक अवज्ञा आंदोलनों की कहानी शामिल है।

इंडिया विंस फ्रीडम

मौलाना आज़ाद ने इस किताब में अपने अनुभवों को शामिल किया है। मौलाना आधुनिक भारत के निर्माताओं में एक है और उन्होंने इस किताब भारत पाकिस्तान के बटवारे पर अपना नजरिया रखा है।

विदआउट फियर

वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नायर द्वारा लिखित, पुस्तक स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह के बारे में बताती है। पुस्तक उनके पक्षों – एक भावुक स्वतंत्रता-सेनानी और मार्क्स, लेनिन, बर्ट्रेंड रसेल के लेखन से प्रेरित एक बौद्धिक व्यक्ति , दोनों की खोज करती है।

अन एरा ऑफ डार्कनेस

शशि थरूर की लिखी ये किताब किताब कई तरीकों से बताती है कि किस तरह से अंग्रेज़ो ने भारत के लोगों का शोषण किया था। वहीं थरुर इस किताब में  लोकतंत्र और आजादी सहित ब्रिटिश शासन के लाभों की बात खरिज करते हुए अपने तर्क रखते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here