उबली हुई चायपत्ती को गलती से भी कचरा समझकर फेंकने की ना करें गलती, सोने से भी कीमती हैं इसके फायदे

हम सभी लोग चाय बनने के बाद उबली हुई चाय पत्ती को कचरेदान का रास्ता दिखा देते हैं पर जिस चीज़ को आप कचरा समझ कर फेक देते हैं वह आपके बहुत ही काम आने वाली चीज़ है

0
115

जयपुर । चाय का सेवन कई लोगों की जान होता है पर क्या आप लोग जानते हैं की चाय  बनाने के जिस चाय पत्ती का इस्तेमाल आप करते हैं और उसको उपयोग में लेने के बाद फेक देते हैं वह आपके कितने काम की है ? हम सभी लोग चाय बनने के बाद उबली हुई चाय पत्ती को कचरेदान का रास्ता दिखा देते हैं पर जिस चीज़ को आप कचरा समझ कर फेक देते हैं वह आपके बहुत ही काम आने वाली चीज़ है । चलिये जब आप इस कचरे को फेक रही होती है तो कभी ध्यान दिया है की यह गीले कचरे में अलग क्यों राखी जाती है और क्यों इसको कचरेवाला अलग से ले कर जाता है , दरअसल यह चीज़ है ही बहुत कम की इतनी ज्यादा खराब हालत के बाद भी यह बहुत काम आती है ।

आज हम बात कर रहे हैं उबली हुई चाय पत्ती के बारे में जिसको हम कचरा समझ कर फेक देते हैं , आज हम आपको इस अंक के जरिये बताने जा रहे हैं की कैसे यह कचरा भी आपके बहुत ज्यादा काम आता है । क्या है इसकी खासियत आइये जानते हैं इस बारे में ।

चाय पत्ती जिसको उबालने के बाद छान कर हम फेक देते हैं यदि इसको धो कर दुबारा पानी में निकाल कर पीस कर इसका पेस्ट घाव पर लगाया जाये तो यह घाव को बहुत जल्द ठीक कर उसको भरने का काम करती है ।

चाय पत्ती को पानी से धो कर दुबारा पानी में उबाल कर उस पानी को ठंडा कर यदि बाल धोने के बाद उस पानी से बालों को धोया जाये और या फिर पानी में आंवला डाल कर बालों में लगाया जाये तो बाल बहुत ही सुंदर और चमक दार बनते हैं जो की आपके बालों के लिए नेचुरल कंडीशनर का काम करती है ।

यदि इसको पानी में दुबारा उबाल कर उस पानी से कुल्ले किए जाएँ तो दाँत का दर्द कम  हो जाता है ।

चाय की बची हुई पत्ती से यदि बर्तन साफ किए जाएँ तो बर्तन बहुत अच्छे से साफ होते हैं और तेल घी की चिकनाई भी बिना मेहनत के दूर हो जाती है ।

आखरी में जब यह चाय पत्ती सब कामों से गुजर जाने के बाद आपको लगता है की यह अब बिलकुल बेकार हो चुकी है और इसमें अब कुछ भी नही बचा है तो आप इसको फेकने की जगह गमों में डाल दें यह उनके लिए खाद का काम करती है विशेष तौर पर गुलाब के पौधों के लिए ।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here