भाजपा के ये सांसद क्यों चाहते हैं कि 26 दिसम्बर को बाल दिवस मनाया जाए?

0
128

जयपुर। हम हर साल 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। इसी दिन 1889 को देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का जन्म हुआ था। जवाहर लाल नेहरू को बच्चों से प्यार करने के लिए भी जाना जाता रहा था। बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू के नाम से बुलाते थे। इसी वजह से हम हर साल नेहरू की याद में 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं।

पश्चिमी दिल्ली से भाजपा के सांसद प्रवेश वर्मा ने अब 26 दिसम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाने का आग्रह किया है। उनके इस अपील में ये बात नहीं है कि वो नेहरू के जन्मदिन को मनाना नहीं चाहते हैं। वर्मा ने पत्र में लिखा है कि नेहरू के जन्मदिन को चाचा दिवस के रूप में मनाना चाहिये, क्योंकि बच्चे उन्हें प्यार से चाच बुलाते थे।

26 दिसम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाए जाने के लिए प्रवेश वर्मा का तर्क है कि इसी दिन मुग्लों के के द्वारा गुरु गोविंद सिंह के बेटों की हत्या कर दी गई थी। वर्मा के अनुसार इसी दिन मुग्लों ने गुरु गोविंद सिंह की माता और दो बच्चों को बंदी बना लिया था और उन्हें ज़बर्दस्ती इस्लाम कबूल करने के लिए कहा था।

वर्मा ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। इसके लिए वर्मा ने 60 सांसदों के हस्ताक्षर को जुटाने के लिए भी अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here