BJP ने उपचुनाव को बनाया प्रतिष्ठा का मुद्दा

0

उत्तर प्रदेश में 8 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव को भाजपा ने प्रतिष्ठा का सवाल बनाकर तैयारियां जोरों पर शुरू कर दी है। सरकार और संगठन की ओर से रणनीति बनाकर किला फतेह करने की कोशिश होने लगी है। जमीनी नब्ज टटोलने के लिए प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और सरकार के दोनों उपमुख्यमंत्री खुद मैदान पर उतरे हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव पहले कानपुर में प्रदेश सरकार में मंत्री रहीं स्वर्गीय कमलरानी वरूण के घर जाकर उन्हें श्रद्घांजलि दी। इसके बाद कार्यकर्ताओं से मिलकर चुनावी तैयारियों की समीक्षा भी की। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर जमकर हमला भी बोला। इसके बाद वह देवरिया दौरे पर हैं। वहां पर पूर्व विधायक जनमेजय सिंह के निधन के कारण उपचुनाव होने हैं। इन बैठकों में वह चुनावी तैयारियों के साथ विपक्ष की ताकत की थाह लेने में जुटे हैं।

उधर, सरकार की ओर से दोनों उपमुख्यमंत्रियों को भी चुनाव जीताने की जिम्मेंदारी सौंपी गयी है। इसी क्रम में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य कानपुर की घाटमपुर विधानसभा पहुंचे। इतना ही नहीं उन्होंने इस दौरान 272 करोड़ की लागत से 212 किमी लम्बी सड़कों और 71 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। चुनावी शंखनाद करते हुये वे बोले कि 2020 के उपचुनाव को लेकर तैयार रहें और भाजपा को वोट देकर कमलारानी जी को सच्ची श्रद्घांजलि दें। इस दौरान उन्होने आनूपुर मोड़ से परास चौराहा मार्ग का नाम कमलरानी के नाम से करने की घोषणा भी की। इसके अलावा अब उनका दौरा रामपुर, बुलंदशहर, अमरोहा और फिरोजाबाद का है।

उपमुख्यमंत्री डॉ. ़दिनेश शर्मा ने भी उन्नाव की बंगरमऊ की सीट से सारे समीकरण दुरूस्त करने शुरू कर दिये हैं। इसके बाद वह टुंडला जाएंगे। इन सभी के साथ संगठन के लोग भी वहां पर पहले से मौजूद रहते हैं, जो जमीनी फीडबैक देते हैं।

राजनीतिक जानकार राजीव श्रीवास्तव का कहना है कि जिन 8 सीटों पर उपचुनाव होने हैं। उनमें से 6 सीटें भाजपा के पास थीं। भाजपा सत्तारूढ़ दल है, ऐसे में उसके लिए यह चुनाव प्रतिष्ठा का विषय है। भाजपा चाहेगी कि 8 सीटें न जीत पाए तो कम से कम 6 सीटों पर जीत बरकरार रखे।

भाजपा के प्रदेश मंत्री चन्द्रमोहन ने कहा कि, “भाजपा हर चुनाव को लेकर संजीदा रहती है। हमारी पार्टी ने पूरी तैयारी कर रखी है। भाजपा सरकार की बहुत सारी उपलब्धियां हैं, इस कारण जनता भाजपा के प्रत्याशियों को निश्चित तौर पर विजयी बनाएगी।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleभारत में Apple का पहला एक्सक्लूसिव ऑनलाइन स्टोर लॉन्च
Next articleअक्टूबर के बाद तेजी आएगी, टीम सही दिशा की ओर अग्रसर : Lalit
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here