बर्थडे स्पेशल:सायना नेहवाल वो खिलाड़ी जिसने भारतीय बैडमिंटन को पहुंचाया नहीं ऊंचाईयों तक

0

जयपुर स्पोर्ट्स डेस्क।। भारतीय बैडमिंटन को ऊंचाईयों तक पहुंचाने में सायना नेहवाल का बड़ा योगदान रहा है । सायना 17 मार्च को अपना 30 वां जन्मदिन मना रही हैं और उनका जन्म 1990 में हरियाणा में हुआ था। हिसार में शुरुआती पढ़ाई के बाद सायना ने हैदराबाद में अपनी पढ़ाई पूरी की और बैडमिंटन खेल को अपनाया ।

कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच सुरेश रैना ने दी बड़ी काम की नसीहत

सायना नेहवाल ने भारतीय महिला बैडमिंटन के सिंगल्स में दुनिया के नंबर एक स्थान तक पहुंचने में सफलता पाई । सायना ही एकमात्र भारतीय हैं जिन्होंने सभी बड़े बीडब्ल्यूएफ टूर्नामेंट में मेडल अपने नाम किया है। यही नहीं सायना ओलंपिक में मेडल जीतने वाली भारत की पहली महिला बैडमिंटन खिलाडी़ हैं। इसके अलावा भी इस बैडमिंटन स्टार के नाम कई उपलब्धियां रही हैं।

कोरोना वायरस के खौफ से PSL छोड़ अपने घर लौटा यह धाकड़ खिलाड़ी

सायना ने साल 2010 और 2018 के कॉमनवेल्थ खेलों में एकल वर्ग के तहत गोल्ड मेडल जीते हैं।सायना ने बैडमिंटन खिलाड़ी पारुपल्ली कश्यप से शादी की । इसके अलावा सायना नेहवाल को भारत सरकार की ओर से भी कई बड़े सम्मान मिले हैं।

सायना नेहवाल को साल 2016 में पद्मभूषण से सम्मानित किया गया । 2009-10 में राजीव गांधी खेल रत्न, 2010 में पद्मश्री और 2009 में अर्जुन अवॉर्ड से भी इस खिलाड़ी को सम्मानित किया गया। सायना नेहवाल बतौर खिलाड़ी भारतीय महिला बैडमिंटन को काफी आगे तक लेकर गई हैं

और वह देश की तमाम लड़कियों के लिए एक मिशाल बनी बैठी हैं।सायना नेहवाल का उतार चढ़ाव वाला रहा है पर फिर वह कोर्ट पर पूरी सिद्दत के साथ टिकी रही हैं और सफलता पाती रहीं।सायना नेहवाल जैसी खिलाड़ी का देश के लिए होना हर किसी के लिए गर्व की बात है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here