Bihar : रालोसपा की नाराजगी आई सामने, पार्टी ने आनन-फानन में बुलाई बैठक

0

बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर जहां सभी राजनीतिक दल अब तैयारी में जुटे हैं, वहीं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेतृत्व वाले महागठबंधन में सीट बंटवारे में हो रही देरी को लेकर नाराजगी अब खुलकर सामने आने लगी है। महागठबंधन के घटक दल राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) भी सीट बंटवारे को लेकर नाराज बताई जा रही है। इस बीच, पार्टी ने गुरुवार को पार्टी की बैठक बुलाई है।

महागठबंधन के सूत्रों का कहना है कि सीट बंटवारे को लेकर रालोसपा नाराज हो गई है। कहा तो यहां तक जा रहा है कि राजद नेतृत्व रालोसपा को 10 से कम सीटें देना चाहती है, जबकि रालोसपा ने 35 सीटों की मांग की है।

रालोसपा के प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा इस मामले को लेकर राजद नेता तेजस्वी यादव से भी मिल चुके हैं।

इधर, रालोसपा के महासचिव आनंद माधव कहते हैं कि यह चिंता की बात है कि महागठबंधन के दो सबसे बड़े दल कांग्रेस-राजद में भी अब तक सामंजस्य नहीं बैठा है। इससे लोग चिंतित हैं, लोगों में गलत संदेश भी जा रहा है।

उन्होंने कहा, “गुरुवार को राष्ट्रीय और प्रदेश कार्यकारिणी के साथ हम सभी परिस्थितियों पर मंथन करेंगे और बैठक में जो भी तय होगा, उस पर पार्टी अमल करेगी।”

महागठबंधन सें नाराजगी के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि नाराजगी की बात नहीं है, लेकिन लोगों में संदेश गलत जा रहा है। सभी की इच्छा महागठबंधन को मजबूत करने की रही है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले महागठंबधन छोड़कर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा राजग में शामिल हो चुकी है।

गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव के पहले रालोसपा राजग को छोड़कर महागठबंधन में शामिल हुई थी।

न्यूज स्त्रोत आइएएनएस

SHARE
Previous articlePixel 4A 5G की तस्वीरें लीक हुई, कैमरा सेटअप की मिली जानकारी
Next article33W फास्ट चार्जिंग के साथ Vivo V20 SE लॉन्च हुआ, जानें कीमत और फीचर्स
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here