बिहार : मोतिहारी में मदर डेयरी दुग्ध प्रसंस्करण प्लान्ट का शिलान्यास करेंगे कृषि मंत्री राधामोहन

0
347

बताया जा रहा है​ कि केन्द्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह मंगलवार को बिहार के पूर्वी चंपाारण जिले के पीपराकोठी में मदर डेयरी के दुग्ध प्रसंस्करण प्लांट का शिलान्यास करेंगे। राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के अध्यक्ष दिलीप रथ ने यहां सोमवार को बताया कि एनडीडीबी किसानों की आय बढ़ाने में मदद करने, उन्हें आय के वैकल्पिक स्रोत उपलब्ध कराने के लिए हमेशा से डेयरी सेक्टर के विकास पर जोर देता रहा है। इससे जहां एक ओर ग्रामीण प्रगति को बढ़ावा मिलता है, वहीं दूध की उत्पादकता भी बढ़ती है।

उन्होंने कहा, “इसी प्रयास में हमने क्षेत्र के 10,000 दूध उत्पादकों को संगठित कर ‘बापूधाम दुग्ध उत्पादक कंपनी’ का गठन किया है। इससे एक पारदर्शी दूध संग्रहण प्रणाली का निर्माण हुआ है और दूध उत्पादकों का लाभ भी बढ़ा है। उनके उत्पाद को बाजार उपलब्ध कराने के लिए एनडीडीबी की सहायक कंपनी मदर डेयरी क्षेत्र में अत्याधुनिक प्रोसेसिंग एवं पैकेजिंग युनिट का निर्माण कर रही है।”

उन्होंने कहा कि इसके अलावा 30,000 और दूध उत्पादकों को शामिल कर दूध उत्पादन संचालन प्रक्रिया के विस्तार की योजना भी बनाई जा रही है।

एक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्र की प्रमुख डेयरी ब्राण्ड, मदर डेयरी यहां साढ़े चार एकड़ क्षेत्रफल में फैले एक लाख लीटर प्रतिदिन की प्रसंस्करण क्षमता वाले इस आधुनिक प्लान्ट करीब 11 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है, जिसे एक साल के अंदर संचालन शुरू होने का लक्ष्य है।

मदर डेयरी स्थानीय दूध उत्पादकों से जो दूध खरीदेगी, वे दूध उत्पादक ‘बापूधाम दुग्ध उत्पादक कंपनी’ के साथ जुड़े हैं, वर्तमान में कंपनी तकरीबन 250 गांवों के 10000 दूध उत्पादकों से दूध प्राप्त कर रही है।

मदर डेयरी फ्रूट एण्ड वेजीटेबल प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक संजीव खन्ना ने पत्रकारों को बताया कि बिहार में दूध उत्पादन लगातार बढ़ा है, जो राज्य में डेयरी उद्योग की संभावनाओं की पुष्टि करता है। उन्होंने कहा कि हाल ही में गठित दुग्ध उत्पादक कंपनी के साथ एनडीडीबी दूध खरीद नेटवर्क को सशक्त बना सकी है।

उन्होंने बताया, “मदर डेयरी इस क्षेत्र के उपभोक्ताओं के लिए अपने ‘ब्राण्डेड पली पैक मिल्क वेरिएन्ट’ भी पेश करने जा रही है। उम्मीद है कि हमारे संयुक्त प्रयास क्षेत्र के किसानों एवं उपभोक्ताओं के लिए सशक्त एवं स्थायी प्रणाली के विकास में मदद्गार साबित होगी।”

किसानों की समृद्घि को बढ़ावा देने के लिए षि मंत्री ने पिछले साल महात्मा गांधी जयंती समारोह के मौके पर बापूधाम दुग्ध उत्पादक कंपनी का उद्घाटन किया था। एनडीडीबी डेयरी सर्विसेज और दूध उत्पादकों के स्वामित्व में यह संस्थान वर्तमान में पूर्वी एवं पश्चिमी चंपारण के डेयरी किसानों के साथ काम कर रहा है और क्षेत्र के 246 गांव इस पहल में शामिल हैं।

उन्होंने दावा करते हुए कहा कि आज इस क्षेत्र से दूध की प्राप्ति 32,000 लीटर प्रतिदिन के आंकड़े को पार कर चुकी है। भविष्य में बापूधाम दुग्ध उत्पादक कंपनी अपनी दूध खरीद प्रक्रियाओं को तकरीबन 1000 गांवों तक विस्तारित करेगी और दूध की खरीद को 1.5 लाख लीटर प्रतिदिन तक पहुंचाएगी, जिससे 30000 दूध उत्पादक परिवार लाभान्वित होंगे।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here