बिहार में ‘चमकी’ बुखार का कहर, अब तक 36 बच्चों की मौत

0
31

जयपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर और कुछ अन्य जिलों में चमकी बुखार से मौत का सिलसिला जारी है जी आप बता दें कि मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक बताया जा रहा है कि इस बुखार से पिछले 1 महीने में कम से कम 36 बच्चों की मौत हो गई है जिसमें 12 बच्चों की मौत हुई है. वहीं आपको बता दें कि पिछले 24 घंटों में यह सभी मौतों की खबरें आई है और मौत की तादाद में लगातार वृद्धि देखी जा रही है .

वहीं आपको बता दें कि इस बीमारी को लेकर केंद्र सरकार ने एक हाई लेवल की टीम भी बनाई है जो बुधवार को बिहार के प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे आपको बता दें कि मौसम में मुजफ्फरपुर और इसके आसपास के क्षेत्रों में हर्षाली बीमारी फैलती है वही उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर पूर्वी चंपारण पश्चिम चंपारण शिवहर सीतामढ़ी और वैशाली जिले में इस बीमारी का ज्यादा असर देखने को मिल रहा है.

वही आपको बता दें कि इस साल अब तक मुजफ्फरपुर के श्री कृष्णा मेमोरियल कॉलेज अस्पताल में जो मरीज आ रहे थे वह मुजफ्फरपुर और आसपास के इलाकों के हैं.

आपको बता दें कि बिहार में उमस भरी गर्मी के पीछे मुजफ्फरपुर और इसके आसपास के इलाकों में यह बुखार बच्चों पर कहर बनकर टूट रहा है. वहीं मौसम की तल्खी और हवा में नमी की अधिकता के कारण संदिग्ध एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम और जापानी इंसेफेलाइटिस नाम की बीमारी पिछले करीब से कहर बरपा रही है.

बिहार में उमस भरी गर्मी के बीच इस बीमारी के बढ़ने के कारण ज्यादा है वही आपको बता दें कि एक क्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम और जापानी इंसेफेलाइटिस को बिहार में चमकी बुखार के नाम से जाना जाता है और इससे पीड़ित बच्चों को अचानक तेज बुखार आता है और बच्चे भी हो सो जाते हैं वही शरीर में ऐठन महसूस होना उल्टी आना और चिड़चिड़ापन होना इस बीमारी के सामान्य लक्षण है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here