बिहार चुनाव नई दिशा बनाम दुर्दशा का है : Randeep Surjewala

0

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ चुनाव मैदान में उतरी कांग्रेस ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यहां शनिवार को कहा कि, “यह चुनाव नयी दशा बनाम दुर्दशा और खुद्दारी और तरक्की बनाम बंटवारा और नफरत के बीच है।” पटना में विपक्षी दलों के महागठबंधन के संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में संकल्प पत्र जारी करते हुए उन्होंने कहा, “यह चुनाव नयी दशा बनाम दुर्दशा का चुनाव है, यह चुनाव नया रास्ता और नया आसमान बनाम हिन्दू-मुसलमान का चुनाव है। यह चुनाव नए तेज एवं तरुणायी बनाम फेल तजुर्बे की दुहाई तथा खुद्दारी और तरक्की बनाम बंटवारा और नफरत का चुनाव है।”

उन्होंने राजग पर निशाना साधते हुए कहा, “भाजपा का गठबंधन तीन पार्टियों से है। एक गठबंधन जदयू और भाजपा का है जो नजर आता है जबकि एक गठबंधन भाजपा और लोजपा का है जो लोग समझते हैं। एक और गठबंधन भाजपा और ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम का है।”

कृषि बिल पर भाजपा और जदयू को घेरते हुए सुरजेवाला ने कहा कि, “किसान और नौजवान यही तो बिहार है। खेती पर सुनियोजित तरीके से हरित क्रांति को भाजपा सरकार हराना चाहती है।”

उन्होंने कहा कि, “अगर मंडियां समाप्त कर दी जाएगी, तो किसान अपनी उपज को बेचने कहां जाएंगे। अगर महागठबंधन की सरकार बिहार में बनती है तो केंद्र सरकार की कृषि विरोधी काले कानून को पहले विधानसभा सत्र में समाप्त करेगी।”

उन्होंने कहा कि, “नीतीश पर धोखा देने का आरोप लगाते हुए है कि अब दो षडयंत्रकारी दोस्त एक साथ हो गए हैं, तो षडयंत्र ही होगा।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleIPL 2020: मुंबई इंडियंस में ‘विविधता’ एक फायदा है: जहीर खान
Next articleMumbai Police को कंगना और रंगोली के खिलाफ जांच का अदालती आदेश
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here