Bihar : अंतिम चरण में 1 बजे तक करीब 35 प्रतिशत वोटिंग

0

बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण के तहत शनिवार को सुबह सात बजे से 15 जिलों के 78 विधानसभा क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान जारी है। इस बीच, अपराह्न् एक बजे तक करीब 35 प्रतिशत मतदाता वोट डाल चुके हैं। इस बीच कहीं से कोई बड़ी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है, हालांकि पूर्णिया के धमदाहा में गोली चलने की खबर है। राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक, अंतिम चरण में 78 विधानसभा क्षेत्रों में वोट डाले जा रहे हैं, जिसके लिए लोगों में उत्साह देखा जा रहा है, खासकर कई मतदान केंद्रों में महिला मतदाताओं की अच्छी खासी संख्या है। कुछ मतदान केंद्रों में प्रारंभ में ईवीएम खराब होने की सूचना मिली थी, जिसे बाद में या तो बदल दिया गया या ठीक कर दिया गया।

आयोग के मुताबिक, दिन के 1 बजे तक 34.82 प्रतिशत मतदाता अपने-अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके हैं। सबसे अधिक मुजफ्फरपुर में 40.15 प्रतिशत मतदाता अब तक वोट डाल चुके हैं, जबकि सबसे कम दरभंगा में 26.58 फीसदी वोट डाले गए हैं।

इसके अलावा, पश्चिमी चंपाराण में 35.81 फीसदी, पूर्वी चंपारण में 34.62 फीसदी, सीतामढी में 31.51 प्रतिशत, मधुबनी में 34.59 प्रतिशत, सुपौल में 35.73 प्रतिशत, अररिया में 32.79 प्रतिशत, किशनगंज में 34.45 प्रतिशत, पूर्णिया में 37.23 प्रतिशत, कटिहार में 35.34 प्रतिशत, मधेपुरा में 33.93 प्रतिशत, सहरसा में 37.58 प्रतिशत, दरभंगा में 26.58 प्रतिशत, मुजफ्फरपुर में 40.15 प्रतिशत, वैशाली में 37.99 प्रतिशत तथा समस्तीपुर में 34.16 प्रतिशत वोट डाले गए हैं।

इस चरण में 2.35 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिसके लिए 33,782 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

इधर, पूर्णिया के धमदाहा मतदान केंद्र संख्या 282 में सुरक्षाकर्मी द्वारा हवाई फायरिंग की गई। मुख्य निर्वाचन अधिकारी एच.आर. श्रीनिवास ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि इस घटना से मतदान में कोई व्यवधान नहीं पड़ा है।

विधानसभा क्षेत्रों के अलावा, वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र के लिए हो रहे उपचुनाव के लिए भी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयेाग कर रहे हैं।

चुनाव आयोग के मुताबिक, तीसरे चरण में 1,204 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है, इनमें से 1094 पुरूष तथा 110 महिला शामिल है। सबसे अधिक 31 प्रत्याशी गायघाट से हैं जबकि सबसे कम नौ प्रत्याशी ढाका, त्रिवेणीगंज, जोकीहाट तथा बहादुरगंज से हैं।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleबेंगलोर को कोहली से आगे सोचना चाहिए : Goutam Gambhir
Next articleजल्द ही जीएसटी के तहत एलएनजी को शामिल करने पर सहमति:धर्मेंद्र प्रधान
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here