बच्चों का मोटापा कम कराने के लिए FSSAI ने लिया ये बड़ा फैसला!

0

जयपुर। छोटी उम्र के बच्चों में बढ़ते मोटापे को ध्यान में रखते हुए अब एएसआई ने एक बड़ा निर्णय लिया है जी हां भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण के सीईओ मयंक अग्रवाल ने बताया है कि स्कूल हेल्थ केयर पर हुए एसोचैम के सम्मेलन में जंक फूड के विज्ञापनों पर रोक लगाने का प्रस्ताव पर विचार किया गया है वहीं आपको बता दो उन्होंने कहा है कि जंक फूड और सॉफ्ट ड्रिंक का ज्यादा इस्तेमाल से बच्चों में मोटापे के अलावा कई अन्य गंभीर समस्याएं भी हो रही है और वजन बढ़ रहा है ऐसे में अब यह विचार किया जा रहा है कि स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालने वाले खाद्य पदार्थों के विज्ञापनों पर रोक लगा दीजिए.

आपको बता दें कि पिछले कुछ समय से लगातार जंक फूड और अन्य खाद्य सामग्री को जो शरीर के लिए हानिकारक है इस तरीके से विज्ञापित किया जाता है कि बच्चों में और कई लोगों में उसकी तालाबों पैदा होती है जिसके कारण है बच्चे उससे होने वाली बीमारियों से अनजान रहते हुए बीमारी का शिकार हो जाते हैं और कहीं बच्चों में मोटापे की भी शिकायत आई है वहीं बताया जा रहा है कि 2030 तक यह समस्या और बढ़ते रहने की उम्मीद है इसी को मद्देनजर रखते हुए अभी कदम उठाया जा रहा है और इस तरीके के विज्ञापनों पर रोक लगाने की बात कही जा रही है.

वहीं इस मसौदे को लाने के दौरान एफ एस एस ए आई ने कहा है कि उसका उद्देश्य चिप्स मीठा कार्बोहाइड्रेट और गैर कार्बोहाइड्रेट पर रेडी टू यूज न्यूडल पिज़्ज़ा बर्गर जैसे अधिकांश ऑन जंक फूड की खपत और उपलब्धि को सीमित करना है वहीं सम्मेलन को संबोधित करते हुए अग्रवाल ने स्वस्थ आहार लेने की जरूरत पर जोर देते हुए कहा था कि 10 में से छह रोग से संबंधित होते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here