Biden की घोषणा : हमारा प्रशासन दुनिया का नेतृत्व करने के लिए तैयार

0

जनवरी में राष्ट्रपति पद संभालने जा रहे जो बाइडेन ने अपनी विश्व नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा टीमों को पेश करते हुए अमेरिकी नेतृत्व के तैयार होने की घोषणा कर दी है।

मंगलवार को विलमिंगटन में अपनी विदेश नीति के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि उनके प्रशासन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अधिकारी “दुनिया का नेतृत्व करने के लिए तैयार हैं, वे हमारे विरोधियों से भिड़ने के लिए तैयार हैं, वे हमारे सहयोगियों को अस्वीकार नहीं करेंगे और हमारे मूल्यों के लिए खड़े होंगे।”

विश्व नेताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा, “मैं इस बात से उत्साहित हूं कि वे एक वैश्विक नेता के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए अपनी ऐतिहासिक भूमिका को स्वीकार करने के लिए कितना उत्सुक हैं।”

बाइडेन ट्रम्प के ‘अमेरिका फस्र्ट’ ब्रांड के आलोचक थे। सहयोगी दलों के साथ संबंधों को मजबूत करने और उनके साथ काम करने को लेकर बाइडेन ने कहा कि वह “अमेरिका को अनावश्यक सैन्य संघर्षों में उलझाए बिना सुरक्षित रखेंगे।”

विदेश नीति को लेकर उन्होंने आगे कहा, “चलिए हम अमेरिका और दुनिया को ठीक करने और एकजुट करने के लिए काम शुरू करते हैं।”

राज्य के सचिव एंटनी ब्लिंकेन ने विदेश नीति को लेकर अपना ²ष्टिकोण बताते हुए कहा, “हमें विनम्रता और आत्मविश्वास के समान उपायों के साथ आगे बढ़ना चाहिए। विनम्रता इसलिए क्योंकि दुनिया की अधिकांश समस्याएं हमसे जुड़ी नहीं हैं और वे हमें प्रभावित करती हैं। हम एक स्विच दबा कर उन्हें हल नहीं कर सकते। हमें दूसरों के साथ साझेदारी करने की आवश्यकता है। आत्मविश्वास इसलिए, क्योंकि अमेरिका अभी भी चुनौतियों का सामना करने के लिए पृथ्वी पर किसी भी देश की तुलना में अधिक क्षमता रखता है।”

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने कहा, “हम परमाणु हथियारों से लेकर आतंकवाद तक सभी स्थायी खतरों के प्रति सतर्क रहेंगे।”

चीन का नाम लिए बिना बाइडेन ने ‘भविष्य के लिए प्रतिस्पर्धा’ की बात कही और कहा कि अमेरिका को “अपने प्रतिद्वंद्वियों और विरोधियों की गलत व्यापार प्रथाओं का मुकाबला करना होगा।” साथ ही उन्होंने मध्यम वर्ग के विकास और असामनता को दूर करने के लिए दुनिया भर के लोकतंत्रों की आर्थिक ताकत को एकजुट करने की जरूरत जताई।

बाइडेन ने पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन को भी उंची प्राथमिकता दी। उन्होंने कहा, “पहली बार संयुक्त राज्य अमेरिका के पास पूर्णकालिक जलवायु नेता जॉन केरी होंगे जो मंत्री-स्तरीय बैठकों में भाग लेंगे।” इस मौके पर कैरी ने कहा, “कोई भी देश अकेले इस चुनौती को हल नहीं कर सकता है, यहां तक कि संयुक्त राज्य अमेरिका भी। पूरी दुनिया को इस समस्या को हल करने के लिए साथ आना चाहिए।”

बाइडेन ने ट्रंप प्रशासन के फैसले का स्वागत किया, जिससे उनकी ट्रांजिशन टीम को सभी जरूरी सूचनाओं तक पहुंच हासिल हो सकी और अब वे महामारी को नियंत्रित करने, देश को बेहतर बनाने और अमेरिकी लोगों की सुरक्षा के लिए काम कर सकेंगे।

बता दें कि चुनाव के बाद से ट्रंप सार्वजनिक रूप से दुर्लभ तौर पर ही दिखाई दिए हैं। उन्होंने केवल स्टॉक मार्केट बैरोमीटर का जश्न मनाने के लिए की गई छोटी सी न्यूज कॉन्फ्रेंस की थी। जब डॉउ जोन्स औसत 30,000 के निशान को पार कर गया था, जबकि उन्होंने भविष्यवाणी की थी कि अगर बाइडेन जीते तो बाजार क्रैश हो जाएगा। उन्होंने केवल 60 सेकंड इस बारे में बात की और सवालों के जबाव दिए बिना चले गए।

बाद में पारंपरिक थैंक्सगिविंग डे भोजन का आयोजन किया, जिसमें टर्की परोसी जाती है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleDev uthani ekadashi: देवउठनी एकादशी व्रत में इन बातों का जरूर रखें ध्यान
Next articleशहद के औषधीय गुणों के बारे में जानें, कई समस्याओं से छुटकारा दिलाता है
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here