MP में फिर हुआ बड़ा घोटाला! आदिवासी किसानों के 100 करोड़ खा गए अफसर

0

मध्य प्रदेश में एक और बड़ा घोटाला होने को लेकर खबर सामने आई है। इस बार किसानों के नाम पर बड़ा घोटाला किया गया है। जैविक खेती को लेकर फ्रोड होना सामने आया है। शिवराज सिंह चौहान सरकार के दौरान हुए घोटाले की फाइल EOW ने खोली है। इस फाइल में एमपी के कई बड़े अफसर फंसते हुए नजर आ रहे हैं। ऐसे में घोटाले को लेकर शिवराजसिंह सरकार के अफसरों पर कई तरह के सवालिया निशान खड़ा हो रहे हैं।

इससे पहले काग्रेंस के विधायकों ने इस घोटाले को लेकर मांग उठाई थी। इसको लेकर पिछले विधानसभा सत्र के दौरान यह घोटाला चर्चा का विषय बना था। इस घोटाले की गूंज विधानसभा में सुनाई दी थी। बता दें कि साल 2017-18 के दौरान जैविक खेती के नाम पर यह घोटाला हुआ था। आदिम जाति कल्याण विभाग ने 20 जिलों के विशेष पिछड़ी जनजाति और आदिवासी के साथ किसानों को करीब 100 करोड़ रुपये कृषि कार्य के लिए विभाग को दिए थे। जैविक खेती करने वाले किसानों को बढ़ावा देना विभाग की प्राथमिकता थी। केंद्र से यह पैसा आदिवासी किसानों के लिए मंजूर हुआ था। इसके चलते आदिवासी किसानों को खाद-बीज और प्रोसेसिंग-मार्केटिंग के लिए देना था।

 रासायनिक खाद के स्थान पर जैविक खाद को बढ़ावा देने को लेकर सरकार की योजना थी। सरकार के पास से पैसा मंजूर होने के बाद घपले का शिकार हो गया। साल 2018 में जैविक खेती के लिए 100 करोड़ का बजट रखा था। एमपी एग्रो ने निजी कंपनियों को ठेका दिया। आरोप लगा है कि खेती के लिए जो सामग्री दी गई थी वो सारी घटिया किस्म की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here