इन गर्मियों की छुट्टियों मे आप भी घूम सकते हैं जयपुर की ये कुछ खास जगहें

0
75

जयपुर गुलाबी नगरी के नाम से इसलिए जाना जाता हैं क्योंकि इसकी पुरानी इमारतो और विरासतो पर गुलाबी रंग हैं। जयपुर अपने महलों, पुराने मंदिरो और किलो के लिए बहुत मशहुर हैं। पुरानी इमारतों और ऐतिहासिक स्मारकों को इतनी अच्छी तरह से संरक्षित और रखरखाव किया गया है कि जयपुर की यात्रा इतिहास की यात्रा की तरह महसूस होती है। तो आइए जानते है इस गुलाबी नगरी की घुमने की जगह –

आमेर किला– यह किला अरावली हिल्स पर बना हुआ हैं। इस महल की आधारशिला राजा मान सिंह प्रथम ने रखी थी और इसे मिर्जा राजा जय सिंह ने पूरा किया था। लाल बलुआ पत्थर और सफेद संगमरमर की आकर्षक सुंदरता भव्यता को बढ़ाती है। यहाँ पर जाने का समय सुबह 8.00 बजे से लेके शाम को 5.30 तक हैं।

नाहरगढ किला – अगर आप जयपुर का पनोरमिक नजारा देखना हो तो यह जगह आपके लिए एकदम सही हैं। पहले नाहरगढ का नाम सुदर्शनगढ रखा गया था फिर उसे बदल कर नाहरगढ रख दिया गया। यहाँ के कमरे एक दूसरे से जुडे हुए हैं और दीवारों पर सुंदर कलाक्रितियाँ बनी हुई हैं। यहाँ जाने का समय सुबह 9.30 से शाम को 5.30 हैं।

सीटी पैलेस – यह जयपुर के बीचों बीच बसा हुआ हैं। यहाँ पर आपको राजपूत और मुगल बनावटें देंखने का मौका मिल जाएगा। 1729-1732 के दौरान निर्मित, महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय की देखरेख में, सिटी पैलेस बहुत ही मिनट का विवरण देता है। चंद्र महल और मुबारक महल इस महल के प्रमुख भाग में शामिल हैं। उदय महल, जलेब चौक, त्रिपोलिया गेट और वीरेंद्र पोल इस महल के प्रवेश द्वार हैं। यहाँ जाने का सबसे सही समय सुबह 9.30 से शाम को 5.00 बजे तक का हैं।

हवा महल– यह जगह सबसे ज्यादा खिडकियों के लिए जानी जाती हैं। यह महाराजा सवाई प्रताप सिंह ने 1798 में बनवाया था। यह पाँच मंजीला ईमारत बिल्कुल एक मधूमक्खी के छत्ते की तरह हैं। इसमे 953 छोटी खिडकीयाँ हैं जिन्हे झरोखे कहते हैं। यहाँ जाने का समय सुबह 9से शामको 4.30 बजे तक का हैं।

सफारी में झालाना तेंदुआ संरक्षण रिजर्व – यह सफारी 20 कि. मी में फैली हुई हैं। यहाँ पर आपको तेंदुओ को देखने का मौका मिलेगा। कभी राजमहलों के शिकार के मैदान के रूप में, यह जगह अब शहर के बीच में सफारी का मजे लेने के लिए एक शानदार जगह है। पार्क और स्पॉट तेंदुए में एक खुली हवा में जिप्सी की सवारी करें, जिसमें ब्लू बुल्स, चित्तीदार हिरण, हनुमान लंगूर, रीसस मकाक, छोटे भारतीय मोंगोज, रूडी मोंगोज, बंगाल मॉनिटर, डेजर्ट गेरिल्स, स्ट्राइप्ड हाइना, डेजर्ट फॉक्स, पोरपाइन, अन्य जानवरों के साथ। , हेजहोग, और सांभर हिरण।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here