जानिए घाटियों के बीच बसे हुए इस शहर के बारे में

0
88

रणकपुर राजस्थान में अरावली पर्वतमाला की एकांत घाटी के बीच एक छोटा सा विचित्र शहर है। पाली जिले में उदयपुर के लगभग 96 किमी उत्तर में स्थित, यह जैन तीर्थयात्रियों के लिए एक महत्वपूर्ण है। यह स्थान राजस्थान में एक असामान्य दृश्य, हरियाली और घनीभूत धाराओं की एक अनूठी झलक प्रस्तुत करता है। जीवंत सुंदरता के साथ जीवंत संस्कृति में डूबे हुए, रणकपुर ने राजस्थान के दर्शनीय स्थलों की सूची में अपना स्थान बना लिया है। आज हम आपके बताने जा रहे हैं इस छोटे से शहर क बारे में –

रणकपुर जैन मंदिर – देश में पाए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण और व्यापक जैन मंदिर परिसरों में से एक, रणकपुर जैन मंदिर सभी मंदिरों के लिए अत्यधिक महत्व रखता है। 4,500 वर्ग गज के क्षेत्र में फैले और 29 हॉलों से मिलकर, मंदिर जैन धर्म के पांच प्रमुख तीर्थस्थलों में सबसे महत्वपूर्ण है।

सादरी – एक छोटा सा शहर जो कि पाली के अंदर हैं, सादरी जैन कम्यूनीटी मे सबसे ज्यादा पूजे जाने वाली जगहो मे से एक हैं। सादरी पहले सिंधल राठोरो के कब्जे मे था। सादरी मेवार ऐर मारवाड के बीच मे रस्ते का काम करता हैं।

सूर्य नारायण मंदिर – सूर्य नारायण मंदिर बहुत ही सुंदर जगहो मे से एक हैं। इसकी दीवारो पर गोल आकार के चित्र बने हुए हैं जो कि सूरज भगवान को अर्पित करते हुए हैं। यहा पर सूर्य भगवान का एक चित्र भी हैं जिसमे वह एक रथ पर सवार हैं जिसमें सात घोडे लगे हुए हैं।

रणकपुर मे खरीदारी – रणकपुर एक छोटा सा गाँव है, लेकिन दुकानदारों के लिए एक स्वर्ग के रूप में कार्य करता है। वास्तव में एक बार जब आप गांव में होते हैं, तो किसी भी खरीदारी प्रेमी के लिए खाली हाथ वापस आना असंभव है। यह स्थान अपने चांदी के गहनों और मिट्टी के बर्तनों के साथ रत्न के लिए प्रसिद्ध है। आपको बाजार में पत्थर के नक्काशीदार उत्पाद भी मिलेंगे और रंगीन कठपुतलियाँ बहुत आकर्षक हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here