जेल से रिहा होते हुए भीम आर्मी चीफ रावण ने मायावती के बारे में क्या कहा?

0
72

जयपुर। सहारनपुर जाति हिंसा के सिलसिले में राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत बुक किए जाने के बाद जून 2017 में जेल भेजा गया था, शुक्रवार सुबह जेल से रिहा कर दिया गया था। आपको बता दे की उन्हें 1 नवंबर को रिहा किया जाना था।

जेल से आने के बाद उन्होंने कहा कि बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकना ही उनका लक्ष्य होगा। उन्होंने साफ कहा कि भाम आर्मी का समर्थन महागठबंधन को होगा और बीजेपी को हराने के लिए काम किया जाएगा। उन्होंने दावा किया कि उनका एक भी व्यक्ति बीजेपी को वोट नहीं करेगा।

उन्होंने आगे कहा की सरकार ने मुझे रिहा करने का आदेश दिया क्योंकि उन्हें डर था कि सुप्रीम कोर्ट उन्हें जेल में डालने के लिए दंडित करेगा। “मुझे पूरा भरोसा है कि वे 10 दिनों के भीतर मेरे खिलाफ कुछ अन्य आरोप लगाएंगे।“ उन्होंने कहा “ मैं अपने लोगों से 201 9 में बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए कहूंगा।“

इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा की  बीएसपी की अध्यक्ष मायावती मेरी बुआ हैं। उन्होंने दलित समाज के लिए बहुत काम किया है, उनसे हमारा किसी तरह का कोई विरोध नहीं है।

आपको बता दे की भीम आर्मी से पिछले कुछ समय में देश के खास कर उत्तर प्रदेश के दलित समाज में अपनी बड़ी पकड़ बना ली है और ऐसे में बीजेपी के लिए अब इस राज्य में दलित वोट मना बहुत ही मुश्किल साबित हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here