अयोध्या मामलाः सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार ने मुस्लिम पक्ष पर साजिश रचने का लगाया आरोप

अयोध्या मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति डी. वाई चन्द्रचूड़ की पीठ कर रही है।

12
558

जयपुर। 6 दिसम्बर 1992 को अयोध्या में स्थित बाबरी मस्जिद ढहाए जाने और उसकी जगह पर राम मंदिर बनाने के लिए ज़मीन के विवाद के मामले में आज से सुप्रीम कोर्ट में वापस से सुनवाई शुरु हो गई है। सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले को लेकर चल रही सुनवाई को आखिरी सुनवाई माना जा रहा है, क्योंकि इसके बाद आने वाला फैसला सर्वमान्य माना जाएगा।

अयोध्या मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति डी. वाई चन्द्रचूड़ की पीठ कर रही है।

आज हुई सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से अपना पक्ष रखते हुए बताया कि इस्लाम में मस्जिद के लिए काफी अहमियत है और ये सामूहिकता वाला मज़हब है। धवन ने कोर्ट में बताया कि सामूहिक नमाज़ कहीं भी अदा की जा सकती है।

लेकिन मुस्लिम पक्ष के इस बात का सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार ने विरोध किया है और कहा है कि 1994 के जिस फैसले का अभी हवाला दिया जा रहा है, उसकी वैधता को लेकर कभी सवाल नहीं खड़े किये गए। यूपी सरकार के मुताबिक मुस्लिम पक्ष इसको लेकर साजिश रच रहा है ताकि अयोध्या मामले के फैसले में देरी हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here