सरदार पटेल के शहर को राष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए अनिश्चितकालीन उपवास, जानिए पूरा मामला !

0
118

गुजरात के आनंद जिला स्थित करमसद के निवासियों के एक वर्ग ने सोमवार से बेमियादी उपवास शुरू किया है। उनकी मांग है कि भारत के प्रथम गृहमंत्री सरदार बल्लभभाई पटेल से संबंधित शहर को राष्ट्रीय पहचान प्रदान किया जाए। इस मांग को लेकर शहर के निवासियों की ओर से गठित सरदार हितरक्षक समिति के सदस्य बिपिन पटेल ने कहा, “हम इस शहर को विशेष दर्जा दिलवाने की मांग काफी समय से कर रहे हैं। पटेल इसी शहर में पले-बढ़े थे। हमने केंद्र और राज्य सरकारों से भी बात की, मगर किसी ने हमारी मांगों की ओर ध्यान नहीं दिया है।”

उन्होंने बताया कि सबसे पहले 1995 में शहर के निवासियों ने इस बाबत अपना प्रस्ताव प्रदेश सरकार को दिया था। उसी समय महात्मा गांधी की जन्मस्थली पोरबंदर के लिए भी ऐसा ही प्रस्ताव दिया गया था। पोरबंद को दर्जा प्रदान किया गया। मगर, करमसद निवासियों की मांग पर अबतक कोई ध्यान नहीं दिया गया है।

सरदार पटेल 31 अक्टूर, 1875 को नाडियाड में पैदा हुए थे, लेकिन उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा करमसद में ही ग्रहण की, जहां उनके बड़े भाई रहते थे।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here