कुड़ली विश्लेषण: क्या फिर से राजस्थान की गद्दी पर विराजेंगी महारानी, या बाजी मार लेंगे अशोक गहलोत

0
93

जयपुर। आज हम इस लेख में ज्योतिषीय विवेचन के आधार पर राजस्थान की वर्तमान सीएम वसुंधरा राजे की कुंड़ली का विश्लेषण कर रहें हैं। क्या फिर से राजस्थान में वसुंधरा राजे गद्दी सम्हालेंगे या इस बार इनके हाथ से गद्दी चली जाएंगी। या फिर राज्य की कमान अशोक गहलोत सम्हालेंगे। कही बाजी सचिन पायलट तो नहीं ले जाएंगे, चलिए जानते हैं कि इनकी कुंडली जानते हैं इस बारे में-

क्या कहते हैं वसुंधरा राजे सिंधिया के सितारे

वर्तमान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया की कुण्डली में वर्तमान समय में राहु की दशा में राहु का अन्तर के साथ ही गुरू का प्रत्यन्तर चल रहा है। राहु इनकी कुड़ली में भाग्य स्थान में बैठकर पंचम दृष्टि से लग्न को देख रहा है, राहु की इस स्थिति के कारण ये चिन्ताग्रस्त रहेगी। इनकी कुंड़ली में  नवम दृष्टि से जनता के संकेतक भाव पंचम को देख रहा है, जिसके कारण इस समय लोगो के बीच इनकी लोकप्रियता घटेगी। कुंड़ली में गुरू अष्टमेश होकर द्वादश भाव में बैठकर इनके अशुभ फल दे रहा है। कुंड़ली विश्लेषण के आधार पर वसुंधरा राजे का दोबरा मुख्यमंन्त्री बनना मुश्किलभरा लग रहा है।

क्या कहती है अशोक गहलोत की कुंडली

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत की कुण्डली का विश्लेषण करते है क्या इस बार राज्य की कमान इनके हाथ में आएंगी। अशोक गहलोत की कुंड़ली में इस समय मंगल की दशा चल रही है इसके साथ ही इनकी कुंड़ली में 6 दिसम्बर से सूर्य की अन्तर दशा शुरु होने वाली है। इस समय मंगल लाभेश में बैठकर सप्तम भाव से पंचम भाव को देख रहा है। इसके साथ ही सूर्य तृतीयेश होकर लाभ भाव पर बैठा है व वहां से पंचम भाव को देख रहा है। इनकी कुंड़ली में इस समय सूर्य व मंगल दोनों ही जनता के संकेतक भाव पर दृष्टि पड़ रही है। जिसके कारण शायद राजस्थान की गद्दी इनके हाथ में आ सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here