विधानसभा चुनाव: विपक्ष की रणनीति से प्रभावित हो सकते हैं BJP के लक्ष्य

0
134

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी ने महाराष्ट्र के हरियाणा की राजनीति में नए सामाजिक समीकरणों से विपक्ष की दिक्कतों को तो बढ़ाया ही है लेकिन अब यह उसके लिए भी कुछ क्षेत्रों में समस्या खड़ी कर रहा है.

हरियाणा में जाट में महाराष्ट्र में मराठा समुदाय को लेकर भारतीय जनता पार्टी चिंतित है और इन दोनों समुदायों को साधने के लिए भारतीय जनता पार्टी को जमीनी स्तर पर काफी मेहनत करने की जरूरत भी लगाई जा रही है इस बात का कयास लगाया जा रहा है वहीं सकता कि करीब रहने पर यह दोनों समुदाय भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में सत्ता के शीर्ष से बाहर हैं वही पार्टी को आशंका है कि इन वर्गों की नाराजगी का असर उसके बड़े चुनावी लक्ष्य पर पड़ सकता है.

वहीं मीडिया में सूत्रों के हवाले से आई जानकारी के अनुसार भारतीय जनता पार्टी को विभिन्न क्षेत्रों से जो अंदरूनी रिपोर्ट मिल रही है उसमें यह बात सामने आ रही है कि विपक्ष हरियाणा में जाट समुदाय में महाराष्ट्र में मराठा समुदाय को भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ एकजुट करने की कोशिश कर रहा है.

गौरतलब है कि हरियाणा की अधिकांश राजनीति जाट केंद्रित है वहीं महाराष्ट्र में मराठा का वर्चस्व वाली सरकार है वहीं भारतीय जनता पार्टी ने पिछली बार राजनीतिक व सामाजिक समीकरणों में बदलाव करते हुए गैर जाट में गैर मराठा वर्चस्व वाली राजनीति को बढ़ावा दिया था जिससे उसे खासा लाभ भी हुआ था.

वहीं हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर सरकार के दौरान हुआ जाट आरक्षण आंदोलन को विपक्ष फिर से गर्म आने की भी कोशिशें कर रहा है. हालांकि विपक्ष के विभाजित होने से भारतीय जनता पार्टी की राह थोड़ी आसान हुई है और अगर विपक्ष जाट समुदाय को प्रभावित कर लेता है तो इससे भी ज्यादा फर्क नहीं पड़ने वाला है क्योंकि राज्य में गैर जाट भावनाएं भी इससे भड़क सकती है और इससे भारतीय जनता पार्टी का लक्ष्य बिगड़ सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here