मंदी की मार के बीच एशियन पेंट्स को लेकर आई ये खबर, यूं समझें पूरा ग्राफ 

0

बांग्लादेश और ओमान में मंदी के चलते एशियन पेंट कंपनी के अंतर्राष्ट्रीय कारोबार पर असर देखने को मिला है। मानसून का ज्यादा असरक श्रीलंका में रहने से भी इस कारोबार पर असर देखने को मिला है। हालांकि, बांग्लादेश और मिस्र में कंपनी के कारोबार में सुधारात्मक कदम नजर आए हैं। एशियन पेंट्स ने 22 जनवरी को दिसंबर तिमाही में समेकित लाभ में 20.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की है।

पिछले वर्ष की इसी अवधि में यह लाभ 647.28 करोड़ रुपये से बढ़कर 779.71 करोड़ रुपये हो गया था। राजस्व 3 प्रतिशत सालाना 5,420.28 रुपये था। ब्याज और कर-परिशोधन से पहले कंपनी की आमदनी 7.7 प्रतिशत की सालाना दर से इजाफे के साथ 1,189.4 करोड़ रुपये हो गई। दिसंबर तिमाही में मार्जिन 96bps से बढ़कर 21.94 फीसदी हो गया है।

पेंट कारोबार पर मॉनसून का सबसे ज्यादा असर देखने को मिलता है। देश में छाई मंदी के बीच इस बार बारिश का अच्छा दौर रहा था। पहले से ही मजदूर वर्ग में मंदी को लेकर असर देखने को मिल रहा है। बरसात से पेंट उद्योग पर काफी प्रभाव पड़ा है। कंपनी के घरेलू सजावटी कारोबार ने शुरुआती दिवाली और लंबे समय तक मॉनसून के कारण कम दोहरे अंकों की वॉल्यूम ग्रोथ को प्रभावित किया। कंपनी के उत्पादों की इकोनॉमी रेंज लगातार अच्छा प्रदर्शन करती है और आने वाली तिमाहियों में इसी रणनीति को आगे बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगी। वॉटरप्रूफिंग और चिपकने वाला उत्पाद रेंज भी अच्छी तरह से बढ़ा है। घरेलू अर्थव्यवस्था में प्रतिकूल आर्थिक स्थितियों के कारण पेंट उद्योग प्रभावित हुआ है। पेंट उद्योग के प्रभावित होने से मांग पर असर पड़ा है। वर्तमान मांग की स्थिति और बजट 2020 कंपनी उम्मीदों से लबरेज बजटी की आशा लगाए बैठी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here