रामनाथ कोविंद को जातिगत समीकरण साधने के लिए राष्ट्रपति बनाया गया : अशोक गहलोत

0
38

जयपुर। लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के बहाने भारतीय जनता पार्टी जातियों को साधना चाहते थे उन्होंने कहा कि मेरा ऐसा मानना है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को जातिगत समीकरण बैठाने के लिए ही राष्ट्रपति बनाया गया था.

इसके अलावा अशोक गहलोत ने कहा कि यही कारण है कि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी इस पद की दौड़ से बाहर हो गए इसके अलावा उन्होंने कहा कि भाजपा ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि गुजरात के चुनाव आ रहे थे और भाजपा के लोग इस बात से घबराए हुए थे कि उनकी सरकार नहीं बन पाएगी आपको बता दें यह सभी बातें अशोक गहलोत ने मीडिया से बातचीत करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री ने जयपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही है.

आपको मालूम हो कि साल 2017 में जून के महीने में राष्ट्रपति पद के चुनाव हुए थे और उसमें भारतीय जनता पार्टी की तरफ से राम नाथ कोविंद के नाम की घोषणा करी गई थी और उसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कुछ ऐसे ही बयान दिया था और मोदी सरकार पर यही आरोप लगाया था कि वह जातिगत समीकरण बांधने के लिए रामनाथ कोविंद को इस पद के लिए उम्मीदवार बनाया गया है.

भैया को बता दे कि अशोक गहलोत के बयान को लेकर अब भारतीय जनता पार्टी ने भी कड़ी आपत्ति जताई है साथ ही उन्होंने इस बयान के लिए उन पशुओं के लोगों से माफी मांगने के लिए भी कहा है वही सभी के बीच भारतीय जनता पार्टी के नेता जी वी एल नरसिम्हा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कांग्रेस पर देश के सर्वोच्च पद लेकर निचले स्तर की राजनीति करने का भी आरोप लगाया है आपको तभी चुनाव चल रहे हैं और ऐसे समय में बातें आई है वह लोकसभा के चुनाव के दूसरे चरण के मतदान कल होने हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here