अफ्रीका में अपना प्लांट बंद करेगी आर्सेलर मित्तल

0

जयपुर। इस्पात निर्माता आर्सेलर मित्तल की दक्षिण अफ्रीका इकाई ने कहा है कि वह इस्पात उद्योग में वैश्विक मंदी के बीच गंभीर वित्तीय नुकसान के कारण अपने सल्दान्हा संयंत्र को बंद कर देगी। जिससे लगभग 1000 कर्मचारियों की नौकरीयों जा सकती है।

आपको बता दें कि ग्लोबल स्टील मैग्नेट लक्ष्मी मित्तल की आर्सेलर मित्तल दुनिया की अग्रणी इस्पात और खनन कंपनी है, जिसमें 60 देशों में उपस्थिति है और 18 देशों में एक औद्योगिक पदचिह्न है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इसके संचालन की एक रणनीतिक समीक्षा के हिस्से के रूप में, इस्पात निर्माता ने पाया कि इसके सल्दान्हा परिचालन ने निर्यात बाजार में प्रतिस्पर्धा करने के लिए अपने प्रतिस्पर्धी लागत लाभ को खो दिया था।

दक्षिण अफ्रीकी सरकार ने आर्सेलर मित्तल दक्षिण अफ्रीका (AMSA) द्वारा कंपनी भर में लगभग 1,000 श्रमिकों को नौकरी से निकालने और सल्दान्हा शहर में इसके संचालन को बंद करने के निर्णय पर “निराशा” व्यक्त की है।

आर्सेलर मित्तल ने जुलाई 2019 की जुलाई-सितंबर तिमाही में कम स्टील शिपमेंट और कीमतों और उच्च सामग्री लागतों के लिए 539 मिलियन अमरीकी डालर का शुद्ध नुकसान दर्ज किया है। जुलाई से सितंबर की तिमाही में कंपनी की बिक्री घटकर 16,634 मिलियन डॉलर रह गई, जो पिछले साल की समान अवधि में 18,522 मिलियन डॉलर थी।

गौरतलब है वैश्विक मंदी के चलते हर किसी उद्योग में मांग पर गाज गिरी है जिसके चलते स्टील उद्योग भी भयंकर संकट से गुजर रहा है। ऐसे में कंपनी को कुछ कठीन फैसले लेने पडते है जो उसे उस दौर का सामना करने में सहायता करे इनमें से कई फैसले से कई लोगों को फर्क पडता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here