कॉलेजियम ने जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और संजीव खन्ना को सुप्रीम कोर्ट में जज बनाने की सिफारिश की

0
34

जयपुर। सुप्रीम कोर्ट की क्लोजिंग ने कर्नाटका को हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस दिनेश महेश्वरी और दिल्ली हाई कोर्ट के जज संजीव खन्ना को शीर्ष अदालत पर पदोन्नति करने की सिफारिशों को लागू करने की बात कही है सुप्रीम कोर्ट में जजों के 31 पदों को स्वीकृति मिली है और बताया जा रहा है कि मौजूदा समय में वहां पांच पद खाली बने हुए हैं.

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इन दोनों जजों के नाम आगे बढ़ाने का फैसला बीते गुरुवार को कई कॉलेजियम की एक बैठक में किया जा रहा है. इस बैठक में बताया जा रहा है सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के नेतृत्व में हो रही है जिसमें शीर्ष अदालत की ही जस्टिस एके सिकरी एस ए बोबडे एन वी रमन और अरुण मिश्रा भी शामिल किए गए हैं.

सुप्रीम कोर्ट के कलेजे में अपनी सिफारिशों में इन दोनों जजों को हाई कोर्ट के अलावा चीफ जस्टिस में जजों के मुकाबले योग्य एवं सही ठहराया है.

आपको बता दें कि संजीव माहेश्वरी साल 2004 में राजस्थान हाई कोर्ट के जज पर भी कार्यरत रह चुके हैं इसके अलावा फिर उन्हें 2014 में स्थान अंतर कर इलाहाबाद हाई कोर्ट में भेजा गया था.

जिसके बाद वहां से फरवरी 2016 में उन्हें मेघालय हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के तौर पर पदोन्नत किया गया था इसके अलावा बताया जा रहा है कि बीते साल फरवरी में उनका स्थानांतरण कर कर्नाटक हाईकोर्ट में कर दिया गया था.

इसके अलावा बताया जा रहा है कि 2005 में संजीव खन्ना की नियुक्ति दिल्ली हाई कोर्ट में हुई थी वहीं अखिल भारतीय स्तर पर हाईकोर्ट के जजों की नियुक्ति के लिए वरिष्ठता के लिए आज से देखा जाए तो दिनेश माहेश्वरी 21वें स्थान पर है, जबकि संजीव खन्ना 33 वें स्थान पर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here