अपोलो टायर्स और मैनचेस्टर युनाइटेड ने लॉन्च किया ‘युनाइटेड वी प्ले’ प्रोग्राम

0

इंग्लिश प्रीमियर लीग क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड ने अपने ग्लोबल टायर पार्टनर -अपोलो टायर्स के साथ रविवार को देश भर के युवा फुटबाल टैलेंट को आकर्षित करने के लिए ‘युनाइटेड वी प्ले’ प्रोग्राम के लॉन्च की घोषणा की। इस प्रोग्राम के तहत चुने गए प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को मैनचेस्टर युनाइटेड सॉकर स्कूल (एमयूएसएस) के कोचों द्वारा प्रशिक्षित किया जाएगा और सबसे अच्छा परफॉर्मेंस देने वाले खिलाड़ियों को मैनचेस्टर युनाइटेड की यू-18 टीम के साथ प्रशिक्षण प्राप्त करने का मौका मिलेगा। मैनचेस्टर युनाइटेड यू-18 टीम इस साल मई में पहली बार भारत दौरा कर रही है।

चार लीग खिताब (1997, 1999, 2000 और 2001), एक एफए कप (1999) और एक चैम्पियंस लीग (1999) खिताब जीतने वाले मैनचेस्टर युनाइटेड के पूर्व मिडफील्डर रोनी जानसन ने मुम्बई में अपोलो टायर्स के उपाध्यक्ष, मार्केटिंग, सेल्स एवं सर्विस (भारत, सार्क एवं ओसेनिया) राजेश दहिया के साथ ‘युनाइटेड वी प्ले’ प्रोग्राम की शुरूआत की।

‘युनाइटेड वी प्ले’ प्रोग्राम दो उम्र वर्ग-यू 13 और यू 16 में दिल्ली, चंडीगढ़, मुम्बई, गोवा, कोलकाता, चेन्नई, गुवाहाटी और बेंगलुरू में अगले दो महीनों में आयोजित किया जाएगा। इसमें करीब 3000 युवा फुटबालरों के हिस्सा लेने की उम्मीद है। शुरूआती प्रोग्राम का आयोजन स्थानीय कोचों के द्वारा होगा और इसके बाद खिलाड़ियों को एमयूएसएस के कोचों को प्रभावित करने का मौका मिलेगा। प्रोग्राम के इस स्टेज में प्रतिभागियों को कुछ स्किल्स और टेक्नीक के बारे में बताया जाएगा।

देश भर से एमयूएसएस कोचों द्वारा चुने गए 32 श्रेष्ठ खिलाड़ी मुम्बई में जुटेंगे और मैनचेस्टर युनाइटेड यू-18 टीम के साथ दो प्रशिक्षण सत्रों मे हिस्सा लेंगे।

इस प्रोग्राम के लॉन्च के अवसर पर अपोलो टायर्स के उपाध्यक्ष, मार्केटिंग, सेल्स एवं सर्विस (भारत, सार्क एवं ओसेनिया) राजेश दहिया ने कहा, “हम भारत में ग्रासरूट फुटबाल के विकास की दिशा में काम कर रहे हैं। इससे हमें शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों मे लोगों से मिलने का मौका मिल रहा है। मैन यू को लगातार अच्छे खिलाड़ी देने वाली मैन यू अंडर-18 टीम को भारत बुलाना भारतीय फुटबाल फैन्स के साथ हमारे निरंतर परस्पर संवाद का हिस्सा है।”

मैनचेस्टर युनाइटेड के निदेशक (पार्टनरशिप) सीन जेफरसन ने कहा, “भारत के साथ मैनचेस्टर युनाइटेड का रिश्ता काफी पुराना है। हमने यहां 2016 से लेकर अब तक पांच हैशटैगलवयुनाइटेड इवेंट्स का आयोजन किया है। भारत में हमारे लाखों प्रशंसक हैं और हम इन इवेंट्स के माध्यम से इन प्रशंसकों से जुड़े रहना चाहते हैं। हमने बीते कुछ सालों में भारत में फुटबाल को तेजी से लोकप्रिय होते हुए देखा है। क्लब के नाते हम इस विकास से खुश हैं और साथ ही साथ अपोलो टायर्स के प्रोग्राम ‘युनाइटेड वी प्ले’ को लेकर काफी रोमांचित हैं।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleसीएए विरोध प्रदर्शन : अलीगढ़ में 60 महिलाओं के खिलाफ मामला दर्ज
Next articleफ्लिपकार्ट सेल: इस फोन पर मिल रही है भारी छूट, जानें
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here