रफाल सौदे से दो हफ़्ते पहले फ्रांस के रक्षा अधिकारियों से मिले थे अनिल अंबानी

0
64

जयपुर। प्रोफाइल मामले से पहले अब एक और बड़ी बात सामने आ रही है द हिंदू अखबार के बाद इंडियन एक्ट्रेस नाम की एक अंग्रेजी अखबार ने एक और खबर छापी है जिसके बाद राफेल में एक और विवाद शुरू हो गया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अप्रैल 2015 में फ्रांस से 36 साल लड़ाकू विमान के सौदे की घोषणा की जाने से लगभग 15 दिन पहले अनिल अंबानी की कंपनी ने पेरिस में फ्रांस के रक्षा मंत्री जेल से रियान के दफ्तर पहुंचे थे और वहां पर उन्होंने फ्रांसीसी रक्षा मंत्री के शीर्ष कलाकारों से मुलाकात करली थी.

इस खबर के बाद एक बार फिर रफाएल मामले को लेकर विपक्ष सरकार पर निशाना साधा है वह इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार इस बैठक में लीड रियान के विशेष सलाहकार जॉब अलर्ट मलाड औद्योगिक सलाहकार कृष्ण ऑफ सलमान और औद्योगिक मामलों के उनके तकनीकी सलाहकार जो फ्री वॉटर शामिल थे.

वहीं इसके अलावा एक अधिकारी के अनुसार यह भी बताया जा रहा कि बैठक में अनिल अंबानी ने सलाहकार उसे तक कहा था कि वह व्यवसाई को डिफेंस हेलीकॉप्टर के निर्माण के लिए उनके साथ काम करने की इच्छा रखते हैं इसके लिए अधिकारियों ने यह भी बताएं कि अंबानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फ्रांस यात्रा के दौरान एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने की भी बात कही थी.

वहीं अब जब अंबानी फ्रांसीसी रक्षा मंत्री के कार्यालय गए थे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 9:00 11 अप्रैल 2015 को फ्रांस के आधिकारिक दौरे पर रहने के बाद भी सार्वजनिक हो चुकी है इसके अलावा बता दे कि अनिल अंबानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उसमें 3 मंडल का 20 साथी जो छत्रपाल विमान सौदा की घोषणा के दौरान उनके साथ गया था मालूम हो कि इस सौदे की घोषणा भारत और फ्रांस द्वारा एक संयुक्त बयान जारी कर की गई थी.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here