अमित शाह ने कहा, कांग्रेस राम मंदिर निर्माण की राह में रोड़ा

0
102

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को चुनावी बिगुल फूंकते हुए कहा कि भाजपा चाहती है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण जल्द हो, लेकिन कांग्रेस राम मंदिर के निर्माण में रोड़ा अटकाने का कोई भी मौका नहीं गंवाती। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में भाजपा चाहती है कि राम मंदिर पर सुनवाई पूरी हो, लेकिन कांग्रेस बाधा खड़ी कर रही है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राष्ट्रीय परिषद के दो दिवसीय सम्मेलन की शुरुआत यहां शुक्रवार को हुई। सम्मेलन में शाह ने कहा, “भाजपा चाहती है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जल्द हो, लेकिन कांग्रेस राम मंदिर के निर्माण में रोड़ा अटका रही है। भाजपा चाहती है कि सर्वोच्च न्यायालय में राम मंदिर पर सुनवाई पूरी हो, इसके लिए हम प्रयास कर रहे हैं, लेकिन कांग्रेस यहां बाधा खड़ा कर रही है।”

यहां रामलीला मैदान में आयोजित राष्ट्रीय परिषद सम्मेलन का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी समेत भाजपा पदाधिकारियों ने दीप जलाकर किया। रामलीला मैदान में आयोजित इस सम्मेलन में भाजपा के 12,000 से अधिक सदस्य हिस्सा ले रहे हैं।

शाह ने कार्यकर्ताओं से 2019 की तैयारी में जुट जाने का आह्वान करते हुए कहा कि राजग आगामी चुनाव में एक बार फिर बहुमत प्राप्त करेगा और केंद्र में सरकार बनाएगा। उन्होंने कहा कि 2019 का चुनाव दो विचारधाराओं के बीच का युद्ध है और युद्ध सदियों तक याद रखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि दुनिया का कोई भी नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जितना लोकप्रिय नहीं है।

शाह ने भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा, “2019 का चुनाव भाजपा के लिए बहुत मायने रखता है। हमारी सरकार ने गरीबों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं दी हैं। 2019 का चुनाव दो विचारधाराओं के बीच युद्ध है। 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसलिए राजग के 35 दल नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एकजुट हैं।”

उन्होंने कहा, “मराठा एक युद्ध हारे थे तो देश 200 सालों के लिए गुलाम हो गया था। 2019 की स्थिति भी आज उसी तरह की है। 2014 में छह राज्यों में भाजपा की सरकारें थीं और आज 16 राज्यों में हमारी सरकारें हैं।”

उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा, “2019 में मोदी की सरकार बनवा दीजिए, केरल तक भाजपा सरकार बना लेगी।”

विपक्षी दलों के गठबंधन की पहल को ढकोसला करार देते हुए शाह ने कहा कि भाजपा गरीबों के कल्याण और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को आगे बढ़ा रही है, जबकि विपक्षी दल केवल सत्ता के लिए साथ आ रहे हैं। कांग्रेस और समूचे विपक्ष पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि विरोधियों के पास न नेता हैं और न नीति।

उप्र में 2014 जैसी सलफता दोहराने का दावा करते हुए शाह ने कहा कि इस बार उनकी पार्टी 73 सीटों के मुकाबले यहां 74 सीटें जीतेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने स्वच्छता, गंगा के पानी के शुद्धिकरण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसी योजनाओं का जिक्र कर भाजपा सरकार की प्रशंसा की।

उन्होंने कहा, “पिछले साढ़े चार सालों में 50 से ज्यादा ऐतिहासिक फैसले लिए गए। नौ करोड़ शौचालय बनाए गए। 2014 तक 60 करोड़ घर ऐसे थे, जिनके पास अपना बैंक खाता नहीं था, लेकिन मोदी सरकार ने एक झटके में ही इन सभी का खाता बैंकों में खोल दिया।”

भाषण की शुरुआत में शाह ने कहा, “पिछले एक हफ्ते में ही मोदी सरकार ने अहम फैसले लिए हैं। सामान्य वर्ग के लोगों को शिक्षा और रोजगार में 10 फीसदी आरक्षण देने का फैसला महत्वपूर्ण है, जिसे न सिर्फ कैबिनेट ने मंजूर किया, बल्कि संसद के दोनों सदनों में पास भी करा लिया गया।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleनींबू का यह टोटका आपकी किस्मत को चमका देगा, आज ही आजमाए…
Next articleअपना भाग्य जानने के लिए एक भगवान को चुने, और देखें उन्होंने आपके भाग्य में क्या लिखा है
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here