फीफा विश्व कप : दूसरे क्वार्टर फाइनल में ब्राजील के सामने बेल्जिमय

0
83

फीफा विश्व के 21वें संस्करण के दूसरे क्वार्टर फाइनल में आज पांच बार की विजेता ब्राजील का सामना बेल्जियम से होगा। कजान एरिना में खेले जाने वाले इस मैच में बेल्जियम की कोशिश दूसरी बार सेमीफाइनल में जगह बनाने की होगी।

बेल्जियम ने दो गोलों से पिछड़ने के बाद गजब का जज्बा दिखाते हुए जापान को 3-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में कदम रखा है। हालांकि टीम पिछले दो बड़े टूर्नामेंटों फीफा विश्व कप-2014 और यूईएएफ यूरो-2016 में क्वार्टर फाइनल से ही बाहर हुई है।

बेल्जियम अगर ब्राजील को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचता है तो टूर्नामेंट के इतिहास में उसका दूसरा सेमीफाइनल होगा। बेल्जियम इससे पहले 1986 में मेक्सिको में हुए विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचा था जहां उसे अर्जेटीना से 0-2 से हार का सामना करना पड़ा था।

बेल्जियम ने प्री-क्वाार्टर फाइनल में जिस तरह से जापान के खिलाफ दो गोल से पिछड़ने के बाद वापसी की वह चौंकाने वाली थी। बेल्जियम ने अपने इस प्रदर्शन से दिखा दिया है कि वह नेमार एंड कंपनी को कड़ी चुनौती देने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

वहीं ब्राजील ने अंतिम-16 में मेक्सिको को एकतरफा अंदाज में 2-0 से हराकर क्वार्टर फाइनल में कदम रखा है।

विश्व कप के इतिहास में 14वीं बार क्वार्टर फाइनल में पहुंची ब्राजील ने इस संस्करण में अब तक केवल एक गोल खाया है जबकि उसने सात गोल दागे हैं। ऐसे में टीम कोच टिटे के मार्गदर्शन में बेल्जियम के खिलाफ भी इसे जारी रखना चाहेगी।

ग्रुप चरण में अपने पहले ही मैच में स्विट्जरलैंड से 1-1 का ड्रॉ खेलने के बाद ऐसा लग रहा था कि ब्राजील उलटफेर का शिकार हो जाएगी। लेकिन इसके बाद से उसने अपने तीनों मैच में जीत दर्ज कर उलटफेर की संभावनाओं को खारिज कर दिया।

ब्राजील के दिग्गज खिलाड़ी नेमार ने अभी तक चार मैचों में दो गोल किए हैं। नेमार पहले से ही येलो कार्ड पर चल रहे हैं और इस मैच में एक और येलो कार्ड मिलने पर अगले मैच से निलंबित हो सकते हैं।

ब्राजील लगातार सातवीं बार क्वार्टर फाइनल में पहुंची है और उसकी कोशिश होगी वह इस सफर को सेमीफाइनल और उससे आगे तक लेकर जाए।

टीमें-

ब्राजील :

गोलकीपर : एलिसन, कासियो, एंडरसन

डिफेंडर : गेरोमेल, फिलिपे लुइस, मासेर्लो, मान्हरेस, मिरांडा, फागनेर, थियागो सिल्वा

मिडफील्डर : कैसिमीरो, फर्नाडिन्हो, फ्रेड, पॉलिन्हो, फिलिपे कोटिन्हो, रेनाटो ऑगस्तो, विलियन

फारवर्ड : फर्मिनो, गेब्रिएल जीसस, नेमार, टाइसन

बेल्जियम-

गोलकीपर :- तिबाउत कोटरेइस, सिमोन मिग्नोलेट, कोएन कास्टील्स

डिफेंडर :- टोबी एल्डरवीरेल्ड, थोमस वीरमाएलेन, विंसेट कोम्पानी, जान वटरेनघेन, थोमस म्यूनिएर, डेड्रिक बोयाटा, लिएंडर डेनडोनकेर

मिडफील्डर :- एक्सेल विस्टल, केविन डे ब्रूने, मारुआने फेलेनी, यानिक करास्को, थोर्गन हेजार्ड, योउरी तिएलमेंस, मोउसा डेम्ब्ले, नासेर चाडली

फारवर्ड :- रोमेलु लुकाकु, ईडन हेजार्ड, ड्राइस मर्टेस, एडनान जानुजाई, मिची बात्शुयाई।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleअमित शाह ने आगरा में कार्यकर्ताओं को मुलायम सिंह यादव और मायावती के घरों पर पार्टी का झंडा फहराने का मंत्र दिया
Next articleअगर आपने कोयले से चलने वाली कार नहीं देखी तो आपने दुनिया में कुछ नहीं देखा
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here