भारतीय वैज्ञानिकों का कमाल: तीन साल बाद समुद्र के तलहटी से खोज निकाला अरबों—खरबों का खजाना

0
324
scientist reaserch

कोलकता। हम आप सब जानते हैं कि समुद्र को रत्नाकर भी कहा जाता है। इस बात को सच कर दिखाया है जिऑलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के वैज्ञानिकों ने। इन वैज्ञानिकों का दावा है कि भारतीय समुद्र की तलहटी में लाखों टन कीमती खनिज और बहुमुल्य धातु है।

आपको बतादें  कि इन वैज्ञानिकों ने पहली सन 2014 में इन धातुओं का पता लगा लिया था। जिस मात्रा में इन वैज्ञानिकों को लाइम मड, फोसफेट-रिच और हाइड्रोकार्बन्स जैसी चीजें हाथ लगी है। इस बात से अंदाजा लगाया जा रहा है कि समुद्र के भीतर भारतीय वैज्ञानिकों को एक बड़ी सफलता मिली है।

Master plan

तील सालों के अथक प्रयास के बाद भारतीय वैज्ञानिकों ने 181,025 वर्ग किमी के अपने मोरफोलॉजिकल डेटा के माध्यम से यह दावा किया है कि समुद्र के अंदर 10 हजार मिलियन टन लाइम मड मौजूद है। यहीं नहीं जहां एक ओर मंगलुरु और चेन्नई कोस्ट में बड़ी मात्रा में फास्फेट है वहीं तमिलनाडु के मन्नार बेसीन कोस्ट में गैस हाइड्रैट मौजूद है। इन्हीं वैज्ञानिकों ने यह भी दावा किया है अंडमान के आस पास मैगनीज और लक्षद्वीप के आस पास सागर में माइक्रो मैगनीज विद्यमान है। समुद्र रत्नाकर, समुद्र कौसतुभ और समुद्र सौदीकामा नाम के तीन अत्याधुनिक अनुसंधान जहाज समुद्र की अचल गहराई में जाकर इस पर रिसर्च कर रहे हैं।

साइंस रिसर्च से जुड़ी लेटेस्ट जानकारी पाएं हमारे FB पेज पे.

अभी LIKE करें – समाचार नामा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here