अद्भुत – यहां घोड़ी पर सवार होकर दुल्हन लाती है बारात, दूल्हे के परिजन करते है ये काम

0
63

जयपुर, हमारे देश मे जब किसी की शादी होती है तो अक्सर दूल्हा घोड़ी पर सवार होकर अपनी दुल्हन को लेने जाता है। और बारातियों के सामने उससे शादी करके उसे अपने साथ विदा करके घर लाता है। लेकिन दोस्तों आज आपको एक अलग तरह की शादी के बार मे बता रहे है। जिसके बार मे जानकर हर कोई एक बार के लिए हैरान रह जाता है।

क्योंकि जिसकी हम बात कर रहे है। वहां पर दुल्हन बारात लेकर जाती है। और चौंकाने वाली बात तो यह है कि दूल्हें के परिजन दुल्हन को दहेज भी देते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि राजस्थान के चित्तोडगढ के आसपास रहने वाल लौहार जानजाति में इस परंपरा को निभाया जाता है।Related image

बता दें कि यह लोग हिंदू धर्म को मानते तो हैं, लेकिन इनकी शादिया व अन्य रिवाज काफी हटकर है। इस जनजाति में वर पक्ष के घर कन्या पक्ष बारात लेकर जाता है और दहेज भी वसूल करता है। और पूरी तरह से लड़के के परिजन दुल्हे को घर से विदा करते है. साथी ही उसे अपनी जिंदगी शुरू करने के लिए कई तरह के गिफ्ट भी देते हैं।

गौरतलब है सन 1576 में ‘हल्दी घाटी’ के युद्ध के दौरान चित्तौड राज्य अकबर द्वारा छीन लिए जाने के बाद महराणा प्रताप अपने बेटे उदय सिंह व मुख्य सलाहकार भामाशाह के साथ पहाड़ो मे चले गए थे। बता दें कि इस दौरान उनके समर्थक लौहार भी थे।

कहा जाता है कि उस दौरान ली गई प्रतिज्ञा को आज भी लोग निभाते हैं। इस समुदाय का कहना है कि जब बेटे का शादी की जाती है तो उसे एक गाड़ी देकर उसके जीवन मे काम आने वाला सारा सामान देकर अलग कर दिया जाता है। और उसके बाद वह अपनी पत्नी के साथ अपनी आवीविका कमाने के लिए निकल जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here