सीबीआई डायरेक्टर के पद से हटाए जाने के बाद आलोक वर्मा ने तोड़ी चुप्पी, दिया बड़ा बयान

0
77

जयपुर। सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा का सरकार के साथ एक लंबे समय तक चलने के बाद अब उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और पद से इस्तीफे के बाद आलोक वर्मा ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए एक बड़ी बात कही है. जिससे एक बार फिर से सीधे का मुद्दा चर्चा का विषय बन चुका है.

बता दें कि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा को अपना पद दिया गया था लेकिन पद पर आने के बाद सरकार द्वारा गठित पूनम मैच में नेता प्रतिपक्ष और जस्टिस सुप्रीम कोर्ट के रखे जाते हैं उन्होंने फैसला लिया के आलोक वर्मा का दूसरी जगह ट्रांसफर कर दिया जाए इस ट्रांसफर की खबर आने के बाद आलोक वर्मा ने अपने दूसरे के ज्वाइन नहीं की और अपना इस्तीफा दे दिया.

अब आलोक वर्मा ने इस्तीफे के बाद अपना बयान देते हुए कहा है कि जब सीबीआई की गरिमा को बर्बाद करने की कोशिश की जा रही थी तब उन्होंने उसे बरकरार रखने की कोशिश करी थी  उन्होंने  किसी भी स्पेशल डायरेक्टर डायरेक्टर का नाम लिए बिना के आलोक वर्मा ने कहा कि यह निराशाजनक है कि सिर्फ एक व्यक्ति द्वारा मुझ पर लगाए गए निराधार आरोपों की वजह से उनका लगातार तबादला किया जा रहा है.

आलोक वर्मा ने कहा कि सीबीआई मुख्य जांच एजेंसी है जो देश के कई हाई प्रोफाइल भ्रष्टाचार के जुड़े मामलों की जांच कर रही है ऐसे में इस की स्वतंत्रता की रक्षा करना उनकी जिम्मेदारी और सभी की जिम्मेदारी होनी चाहिए. उन्होंने कहा इस बात की जरूरत है कि सीबीआई विनायक किसी बाहरी दबाव या प्रभाव कि काम करें और तभी इस संस्थान को बर्बाद होने से बचाया जा सकता है.

आलोक वर्मा ने कहा कि उन्होंने इसकी स्वाभिमान को बरकरार रखने के लिए पूरी कोशिश की और हमेशा संस्थान का सम्मान करना चाहा और उन्होंने कानून का राज स्थापित करने की कोशिश करते रहने की बात कही.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here