Akhilesh Yadav ने कृषि बिल को बताया डेथ वारंट

0

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नए कृषि बिल को लेकर निशाना साधा और कहा यह किसानों के लिए डेथ वारंट है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज सैफई स्थित मेला मैदान में ध्वजारोहण कर 72वां गणतंत्र दिवस मनाया। उन्होंने कहा कि किसान बिल का विरोध करने पर सपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं के घरों पर पुलिस छापेमारी कर रही है।

कहा कि, “किसान बिल को जबरिया सदन में पास किया गया है। जबरिया पास किया गया किसान बिल हकीकत में डेथ वारंट है। जनता का पैसा बना देश का सब कुछ बेचा जा रहा है। जब हम आप अपने अधिकारों को अगर मांगने के लिये सड़को पर निकले तो भाजपा के लोग राजनैतिक कहते हैं। पंजाब के किसानों ने देश में अपनी मांगों को लेकर अलख जगा दी है। इसलिए पंजाब के किसान वाकई में बधाई के पात्र हैं।”

उन्होंने कहा कि, “आज ही देर रात बड़ी तादात में समाजवादी साथियों को गिरफ्तार किया गया है। तिरंगा ट्रैक्टर रैली को रोकने की भरसक पुलिस ने कोशिश की लेकिन कामयाब नही हो सके हैं। लोकतंत्र बचाने के लिये भाजपा को हराना बेहद जरूरी है।”

अखिलेश ने कहा कि, “हमें देश की सेना पर गर्व है। सभी जातियों के लोग इस देश में रहते हैं। यही देश की पहचान है। देश की आजादी के लिये हर जाति के लोगों ने अपनी शहादत दी है।”

मुख्यमंत्री योगी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, “14 और 15 करोड़ लोगों को नौकरी देने का दावा करते हैं, लेकिन हकीकत उससे बिल्कुल ही अलग है। कोई भी विकास कार्य योगी सरकार नहीं कर सकी है। सपा सरकार में जो काम हुआ था उसके बाद कोई भी काम नहीं हुआ है।”

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी किसी भी मेधावी छात्र को लैपटॉप नही दे पाए हैं, क्योंकि मुख्यमंत्री को लैपटॉप चलाना नहीं आता है। अमेरिका में हुए राजनीतिक बदलाव का हवाला देते हुए अखिलेश ने कहा कि गोरे काले का भेद करने वाले आज अमेरिका में सत्ता से बाहर हो गए हैं। भारत में भी नफरत फैलाने वाले भी सत्ता से बाहर हो जाएंगे।

राष्ट्रीय महासचिव प्रो.रामगोपाल यादव ने कहा कि, “केंद्र सरकार सब कुछ बेचने में जुटी हुई है। केंद्र सरकार केवल 10 लोगों के लिए काम कर रही है और सारे देश की जनता को मूर्ख बना रही है।”

news source आईएएनएस

SHARE
Previous articleThe series ‘1962 : द वॉर इन द हिल्स’ 26 फरवरी को होगी रिलीज
Next articleSakat chauth vrat 2021: सकट चौथ पर इस विधि से करें भगवान गणेश की पूजा, जानिए चंद्रोदय का समय
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here