अजय भूषण पांडेय ने राजस्व सचिव का पदभार संभाला

0
100

यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण पांडेय ने शुक्रवार को वित्त मंत्रालय में राजस्व सचिव का पदभार संभाला। उन्हें हसमुख अधिया की जगह राजस्व सचिव बनाया गया है जो शुक्रवार को ही सेवानिवृत्त हुए। पांडेय ने कहा कि बतौर राजस्व सचिव कर अनुपालन में बढ़ावा देने के अलावा जीएसटी कार्यान्वयन को स्थिर करना, पारदर्शिता लाना और बेहतर कर प्रशासन व कारोबारी सुगमता (इज ऑफ बिजनेस) के लिए कानूनों व प्रक्रियाओं को सरल बनाना उनकी प्राथमिकता होगी।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, “इस समय मेरी प्राथमिकता पूरी कर प्रणाली में प्रौद्योगिकी एकीकरण और प्रक्रियाओं, नियमों और विनियमों को अधिक सरल बनाते हुए कर और सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी)अनुपात में सुधार लाना है ताकि लोग स्वाभाविक ढंग से पूरी कर व्यवस्था का अनुपालन करने के प्रति उत्साहित हों।”

उन्होंने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को सरल बनाने के लिए बहुत कुछ किया जा चुका है और निकट भविष्य में कुछ और करने का प्रस्ताव है।

महाराष्ट्र कैडर के 1984 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी पांडेय को राज्य व केंद्र सरकार में काम करने का 34 साल का अनुभव है। वित्त व राजस्व सचिव पद से सेवानिवृत्त हुए हसमुख अधिया ने नए दफ्तर में उनका स्वागत किया।

पांडेय सीईओ के तौर पर यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) के प्रमुख बने रहेंगे। वह जीएसटीएन के अध्यक्ष का पद भी संभालेंगे।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleजानें, शनिवार के दिन पीपल पर क्यों चढ़ाते हैं कच्चा दूध
Next articleलाजरस बारला को हॉकी विश्वकप में भारत के पदक जीतने की उम्मीद
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here