Ahoi ashtami 2020: संतान की लंबी आयु के लिए रखा जाता है अहोई अष्टमी व्रत, जानिए तिथि

0

हिंदू धर्म में व्रत त्योहारों को बहुत ही खास माना जाता हैं वही महिलाओं के लिए अहोई अष्टमी व्रत खास होता हैं इस पर्व को उत्तर भारत में मनाया जाता हैं महिलाएं इस दिन व्रत करती हैं साथ ही अहोऊ देवी की पूजा आराधना करती हैं यह दिन देवी अहोई को समर्पित होता हैं इस दिन महिलाएं अपनी संतानों की लंबी उम्र के लिए उपवास करती हैं साथ ही परिवार की सुख समृद्धि की कामना करती हैं अहोई अष्टमी की पूजा पूरे विधि विधान से की जाती हैं इस साल अहोई अष्टमी का व्रत 8 नवंबर को रखा जाएगा। यह दिवाली से एक हफ्ते पहले पड़ता हैं तो आज हम आपको इससे जुड़ी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं। जानिए अहोई अष्टमी मुहूर्त—

रविवार 8 नवंबर— शाम 5 बजकर 26 मिनट से शाम 6 बजकर 46 मिनट तक

अवधि 1 घंटा 19 मिनट

अष्टमी तिथि आरंभ— 8 नवंबर, सुबह 7 बजकर 28 मिनट से

अष्टमी तिथि समाप्त— 8 नवंबर, सुबह 6 बजकर 50 मिनट तक

आपको बता दें कि अहोई अष्टमी व्रत बहुत महत्वपूर्ण होता हैं यह पर्व खासतौर पर माताओं के लिए होता हैं क्योंकि अहोई अष्टमी के दिन महिलाएं अपने बच्चों के कल्याण के लिए व्रत करती हैं इस पूरे दिन निर्जला व्रत किया जाता हैं और रात को चंद्रमा या तारों को देखने के बाद ही व्रत खोलती हैं। दीवार पर बनाई गई इस पुतली के पास ही स्याउ माता और उसके बच्चे भी बनाए जाते हैं इनकी पूजा की जाती हैं। जो महिलाएं निसंतान है वो भी संतान प्राप्ति के लिए अहोई अष्टमी का व्रत कर सकती हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here