प्रेम विवाह करने पर गांव वालों ने दी ऐसी सजा जिसे सुनकर हैवान भी शर्म से पानी पानी हो जाए

0

आज एक अजीब ही मामला सामने आया है जहां पर बताया जा रहा है कि गांव वालों दो प्यार करने वालों को ऐसी सजा दी है कि जिसे सुनकर शायद किसी ​का भी दिल रो उठें।

आपको बता दें कि गांव की ही लड़की से प्रेम विवाह करने के कारण एक व्यक्ति को गांव वालें और उसका समाज अब मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोक रहा है। इतना ही नहीं इस शख्स को ईद के मौके पर भी मस्जिद में नहीं घुसने दिया गया।

इसके बाद उस शख्स ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई कि लडकी के परिवार वालें उसे जान से मारना चाहता हैं। जिसके बाद हाई कोर्ट के आदेश पर पुलिस प्रोटेक्शन में उनकी शादी करवाई गई और उन्हें पुलिस प्रोटेक्शन में ही गांव में रहने का आदेश दिया गया। इन सबके बाद इरफान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और जिले के एसएसपी से अपनी सहायता के लिए गुहार लगाई है। आपको बता दें कि इरफान ने अपनी मदद की अर्जी में लिखा है कि उसे पर धर्म परिर्वतन और जान से मारने की धमकियां मिल रही है।

इसके बाद इरफान ने बुधवार को एसएसपी जे रविंद्र गौड़ से मुलाकात की। इस मुलाकात में इरफान ने बताया कि घर में दो बच्चे और पिता रहते हैं। गांव के कुछ लोग उन पर और उनके परिवार वालों पर किसी भी समय हमला कर सकते हैं तथा उनको लगातार प्रताड़ित भी किया जा रहा है। इसलिए उन्होंने एसएसपी से अपने और परिवार की सुरक्षा की मांग की है।

इसके आगे इरफान ने पुलिस को जानकारी देते हुए बताया है कि साल 2014 में उन्हें अपने ही गांव की लड़की जिसका नाम फरजाना है उससे प्यार हो गया था और उसके बाद हाई कोर्ट के आदेश पर उन्होंने 29 मई 2014 को फरजाना से शादी की।

जिसके बाद कोर्ट ने उन्हें कुछ समय के लिए सुरक्षा दी ​थी मगर अब सुरक्षा हटते ही फरजाना के परिजनों और गांव के कुछ लोगोें ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है। और उनको गांव छोड कर जाने के लिए भी कहा जिसके बाद वह उस गांव को छोडकर पांचली गांव में रहने लगे।

जिसके बाद हमने साल 2015 में वह एक बार फिर हाई कोर्ट में अपील की और हम वापस अपने गांव आ गए। मगर अब हमें सुरक्षा चाहिए। क्योंकि गांव के कुछ लोग हमें लगातार प्रताडित कर रहे हैं। इस विषय के बारे में अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के इस्लामिक शरीयत के पूर्व चेयरमैन हाजी जैनुस साज्जिदीन ने कहा है कि किसी को मस्जिद जाने से रोकना सबसे बड़ा गुनाह है। इसके आगे उन्होंने कहा कि अगर दो बालिग लोग अपनी आपसी रजामंदी से निकाह करते हैं तो यह जायज है। अत: हमें उनको स्वीकार करना ही होगा।

राज्य खबरों के लेटेस्ट जानकारी पाएं हमारे FB पेज पे.

अभी LIKE करें – समाचार नामा 

यूपी में अब सब्जीवाले, आॅटोचालक बनेंगे पुलिस की आंख और कान

वीडियो: शराब के नशे में पुलिस वाले ने पेट्रोल पंप पर की ऐसी हरकत जिसे देखकर कर किसी को शर्म ​आ जाए, देखें वीडियो

पाकिस्तानः इस शख्स के इतने बच्चे हैं की सुनकर आपको भी यकीन नहीं होगा, जानने के लिए जरूर पढ़ें ये खबर

वीडियो: आखिरकार बड़ी स्कूलों की सच्चाई आई सामने, देखें वहां पर क्लासरूम में बच्चे कैसी हरकत करते हैं

लड़की जहां पर भी जाती है वहां पर हाथ लगाते ही आग लग जाती है

6 साल का लड़का गर्भ से, डॉक्टर्स भी हुए हैरान

अद्भुत: आखिर ये विशालकाय जानवर कैसे करता हैं इसानों से बातें, देखें वीडियो

SHARE
Previous articleयूपी में अब सब्जीवाले, आॅटोचालक बनेंगे पुलिस की आंख और कान
Next articleबाजार में जल्द नजर आएगा 200 रुपए का नोट, आरबीआई ने शुरू की छपाई !!
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here