अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने दो प्रोफेसर के एवज में, तीन तालिबानी कैदियों को दी रिहाई

0

जयपुर।साल 2016 में एक प्रेस वार्ता के दौरान अगवा किए गए दो पश्चिमी देश के प्रोफेसर को मुक्त करवाने के लिए अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने तीन तालिबान कैदियों को सशर्त रिहा कर दिया है।सूत्रों ने बताया है कि अफगानिस्तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी ने आज इस बात की घोषणा करते हुए तीन तालिबान कैदियों को रिहा कर दिया है।

अफगानिस्तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी ने राष्‍ट्रपति भवन में अपनी एक घोषणा में कहा कि हमने तीन तालिबानी कैदियों को सशर्त रिहा करने का फैसला किया है।जिनको अफगान सेना ने अंतरराष्‍ट्रीय सहयोगियों की मदद से देश के बाहर से गिरफ्तार किया गया था।

अफगानिस्तान में इन तालिबान विद्रोहियों को कुछ समय के लिए अफगान सरकार की हिरासत में बगराम जेल में रखा गया था और जिसके बाद हाल ही में जून 2019 पाकिस्तान में हुई तालिबान और अमेरिकी विशेष राजदूत जालिमी खलीलजाद के साथ बैठक में इस बात का फैसला किया गया था कि अफगानिस्तान अपने कुछ साथियों के रिहाई के बदले

में 200 से अधिक तालिबानी कैदियों को रिहा करने की घोषणा करेगी।जिसके बाद अफगान के पुल-ए-चरखी जेल से 170 तालिबानी कैदियों को रिहा करने की घोषणा की गई थी। अफगानिस्तान में बीते दो दशकों से जारी अफगान सरकार और ​तालिबान के बीच गृह युद्ध के लिए चल रही शांति वार्ता के दौरान यह सबसे अहम फैसला माना गया था।

हालांकि, अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने तालिबान के हमले ना रोकने के चलते शांति वार्ता को रद्द कर दिया था।जिसके बाद अफगानिस्तान में तालिबानी हमलों में बढ़तरी भी देखने को मिली थी और तालिबान आतंकी गतिविधियों को भी बढ़ाने में लग गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here