अभिनेत्री रीम शेख ने कहा, हमेशा से ड्रामा क्वीन रही हूं

0
99

अभिनेत्री रीम शेख टेलीविजन जगत में एक जाना-पहचाना नाम हैं। टीवी शो ‘तुझसे है राब्ता’ में कल्याणी की भूमिका निभा रहीं रीम को दर्शकों का खूब प्यार मिल रहा है। उन्होंने महज छह साल की उम्र में ही इमेजिन टीवी के शो ‘नीर भरे नैना’ से अभिनय में आगाज कर दिया था।

हाल ही में राष्ट्रीय राजधानी आईं रीम ने आईएएनएस से बात की। कम उम्र में अभिनय में आ जाने वालीं रीम खुद को ड्रामा क्वीन मानती हैं।

इतनी कम उम्र में अभिनय में आने के बारे में पूछे जाने पर रीम ने आईएएनएस से कहा, “मैं हमेशा से ड्रामा क्वीन रही हूं। मेरे पापा ने ऐसे ही यलो बुक से थोड़े कॉन्टेक्ट निकाले। पोर्टफोलियो करवाया। मैंने काफी ऑडिशन दिए फिर इमेजिन टीवी के ‘नीर भरे तेरे नैना देवी’ के लिए दिया, जहां से मेरा सफर शुरू हुआ।”

महिला सशक्तीकरण के बारे में बात के दौरान उन्होंने कहा कि लड़की के काम करने को मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए। अभिनेत्री ने कहा, “मैं सोचती हूं कि जो लोग इसे एक मुद्दा बना देते हैं कि लड़की है और काम कर रही है..मैं कहती हूं कि यह कोई बड़ा मुद्दा है ही नहीं। एक लड़की निश्चित रूप से लड़कों से बिल्कुल कमतर नहीं होती तो जाहिर है कि वह काम करेगी ही। लड़का या लड़की नहीं, बल्कि एक इंसान काम कर रहा है। लड़की का काम करना बड़ा मुद्दा नहीं है, बल्कि एक महिला का शादीशुदा जिंदगी की जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए और अपने बच्चों को संभालते हुए काम करना एक बड़ा मुद्दा है।”

टीवी शो ‘तुझसे है राब्ता’ में कल्याणी की भूमिका निभा रहीं रीम से जब पूछा गया कि वास्तविक जीवन में वह इस किरदार से कितना जुड़ाव महसूस करती हैं तो उन्होंेने कहा, “काफी कुछ है जैसे कि कल्याणी माता-पिता को बहुत प्यार करती है और काफी खुशमिजाज है। एक चीज रिलेट नहीं करती कि कल्याणी बहुत गुस्से में आकर ऐसी हरकतें कर देती है जिससे वह हमेशा फंस जाती है जबकि रीम बिल्कुल वैसी नहीं है।”

कास्टिंग काउच के बारे में उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो जो लोग यह करते हैं वह बहुत ही वाहियात हैं। किसी की मजबूरी का फायदा उठाना बहुत ही शर्मनाक चीज है, लेकिन लड़कियों के लिए मैं कहना चाहूंगी कि वे अपने आपको प्रेजेंट ऐसे करें कि किसी की हिम्मत न हो कि कोई आपके साथ ऐसी-वैसी हरकतें कर सकें। अगर आप खुद को मजबूत और आत्मनिर्भर शख्सियत के तौर पर पेश करेंगी तो सामने वाले शख्स में हिम्मत नहीं होगी कि वो आपको छेड़े भी फिर इसका शिकार होना तो बहुत दूर की बात है।”

ड्रीम रोल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि ‘बेहद’ का माया का किरदार मुझे बहुत पसंद है और मैं ऐसा किरदार निभाना चाहूंगी। यह शानदार है जिस तरह की वह सनकी है लेकिन फिर भी बहुत ग्लैमरस है..इस किरदार ने एक छाप छोड़ी है और मुझे यह किरदार बहुत प्यारा है।

इस फील्ड में आने वाली लड़कियों के लिए दिए अपने संदेश में रीम ने कहा, “कभी भी हिम्मत नहीं हारे, क्योंकि दो साल पहले मैं भी ऐसा महसूस करने लगी थी कि मैं क्या कर रही हूं लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी। विश्वास बनाए रखें। कड़ी मेहनत करें। काम के प्रति ईमानदार रहें और काम की पूजा करें, क्योंकि आज अगर हम अपने काम की इज्जत करेंगे तो कल फिर काम आपकी जरूर इज्जत करेगा।”

महिला होने के मायने पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “मैं आत्मनिर्भर हूं मुझे किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है। इससे ज्यादा मैं और क्या कहूं।”

‘तुझसे है राब्ता’ के बारे में उन्होंने कहा कि आगे इस शो में काफी ड्रामा देखने को मिलेगा उन्होंने बताया कि कल्याणी अनुप्रिया की शादी कराना चाहती है, वहीं कोई कल्याणी की जान लेना चाहता है, कल्याणी के प्रति मल्हार नरम पड़ रहा है तो ऐसे में एक वक्त पर बहुत कुछ दिलचस्प देखने को मिलेगा।

100 से अधिक टीवी विज्ञापनों में काम कर चुकीं रीम को खाली समय में साइकिलिंग करने और बैंडमिंटन खेलने का शौक है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleप्रियंका गांधी ने कांग्रेस महासचिव बनने के बाद अपने पहले भाषण में क्या बोला?
Next articleन्यायपालिका का भविष्य ‘सुपर वकीलों’ के हाथ में : विशेषज्ञ
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here