Birth Anniversary: अभिनेताओं से भी ज्यादा फीस लेते थे प्राण, उनके इन किरदारों को कभी नहीं भुला पाएंगे दर्शक

0
109

अपनी कॉमेडी से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले अभिनेता और विलेन बनकर लोगों को डराने वाले दिग्गज अभिनेता प्राण की बर्थ एनिर्वसरी हैं। आज प्राण का 99वां जन्मदिन हैं। प्राण का जन्म दिल्ली के बल्लीमारान इलाके में 12 फरवरी 1920 को हुआ था। उनका पूरा नाम प्राण कृष्ण सिकंद था। बाद में फिल्मों में आने के बाद उनका नाम प्राण ही रह गया। आपको बता दें कि वो एक समृद्ध परिवार से ताल्लुक रखते थे। वो बचपन से ही पढ़ाई में बहुत होशियार थे, खास तौर से गणित में। आज उनकी बर्थ एनिर्वसरी पर हम आपको उनके कुछ यादगार किरदार के बारें में बताने जा रहे हैं जो शायद ही कभी दर्शक भूल पाएं। प्राण ने अपने अभिनय करियर के दौरान एक से बढ़कर एक कई यादगार किरदार निभाए हैं आइए जानते हैं उनके किरदारों के बारें —

फिल्म— मधुमती (1958)
किरदार- राजा उग्रनारायण
इस फिल्म को बिमल रॉय ने निर्देशन किया था। इसमें प्राण ने नकारात्मक किरदार निभाया था जो एक बहुत बड़े कारोबारी थे। उनके इस किरदार को दर्शकों ने काफी पसंद किया था।

फिल्म— जिस देश में गंगा बहती है (1960)
किरदार- राका
ये राज कपूर की सुपरहिट फिल्मों में आती हैं। इसमें प्राण के किरदार को लोगों ने काफी पसंद किया था। अपनी इस फिल्म से प्राण अपने फैंस के दिलों में खास जगह बनाने में कामयाब हुए थे।

हाफ टिकट (1962)
किरदार – राजा बाबू
फिल्म की कहानी एक लड़के की हैं। जिसमें प्राण तस्करी करने वाले के किरदार में नजर आ जाते हैं, प्राण ने अपने अभिनय से किरदार में जान डाल दी थी। इस फिल्म का निर्देशन कालीदास ने किया था।

उपकार (1967)
किरदार – मंगल चाचा
प्राण ने अपने अभिनय करियर के दौरान कॉमेडी, नकारात्मक और हीरो की भूमिका निभाई है। इस फिल्म में उन्होंने एक दिव्यांग का किरदार निभाया था, जो इस फिल्म के अभिनेता मनोज कुमार को देशभक्ति की सलाह दिया करता था।

पूरब और पश्चिम (1970)
किरदार – हरनाम
इसमें प्राण ने हरनाम का किरदार निभाया था जो ब्रिटिश सरकार के साथ मिलकर स्वतंत्रता सेनानियों को धोखा देता हैं। फिल्म की कहानी पश्चिमी संस्कृति के भारतीय परिवारों पर पड़ते असर का मुद्दे पर था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here