अपने भाग्य में जो लिखा है,वही प्राप्त होगा उससे अधिक नही

0
134
never do this work and get sucess

जो व्यक्ति कौए कि तरह चेष्टा,बगुले की तरह ध्यान, कुत्ते की तरह सर्तक,अल्पहार,और घर से दूर रहता है,वह सब कुछ प्राप्त कर सकता है,व्यक्ति अपने जीवन सब कुछ प्राप्त करने के लिए उत्साहित रहता हैं, लेकिन वह अपने भाग्य से ज्यादा प्राप्त नही कर सकता,क्योंकि व्यक्ति को अपने कर्मो के अनुसार फल की प्राप्ति होती है।

जिसका जिस तरह का कर्म होता है,उसे वैसै ही फल प्राप्त होता है, व्यक्ति को अपने जीवन में सब कुछ प्राप्त करने के पहले अपने कर्मो को श्रेष्ट बनाना पडता है, व्यक्ति को अपने जीवन में सफलता प्राप्ति के सर्वप्रथम अपने क्रोध पर काबू पाना अति आवश्यक है, अगर जीवन में सब कुछ प्राप्त करना है तो सजक और सावधान रहना अति आवश्यक है,जिसके भाग्य में जो लिखा है,

उसे वही मिलेगा क्योंकि सब कुछ देना ईश्वर के हाथ मे है,युवतियां को कभी भी घर से भागकर शादी नही करनी चाहिए क्योंकि विधर्मी से शादी होने पर आपको वह सब भी करना पड सकता है जिसकी कल्पना आप स्वप्न में भी नही कर सकते जैसे, वास्तविक जीवन और तीन घंटे की फिल्म में काफी अन्तर होता है

अत: व्यक्ति को जीवन मे सजक रहकर किसी कार्य को करना उचित है,किसी कार्य को प्रारम्भ करने से पहले उस के बारे मे अवश्य जान लेना चाहिए,अन्यथा आपको भारी समस्याओ का सामना करना पड सकता है, अत: जीवन में सब कुछ हासिल करना व्यक्ति का परम लक्ष्य होता है, इसलिए मनुष्य को अपने भाग्य पर विश्वास रखते हुए जीनव में आगे बढना चाहिए,और लक्ष्य प्राप्ति तक रुकना नही चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here