जाने आयुर्वेद के अनुसार कब क्या खाना है निषेध सेहत के हित के लिए

आयुर्वेद हमारे देश की इलाज़ की सबसे पड़ी पद्धति , भारत में ही नही आज आयुर्वेद का बोल बाला पूरे विश्व में है , आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज़ मुमकिन है

0
69
Fruits and vegetables arranged in word 'food'

जयपुर । आयुर्वेद हमारे देश की इलाज़ की सबसे पड़ी पद्धति , भारत में ही नही आज आयुर्वेद का बोल बाला पूरे विश्व में है , आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज़ मुमकिन है और किसी भी बीमारी का इलाज़ पूरी तरह जड़ से खत्म करने की ताकत यह पद्धति रखती है इतना ही नही आयुर्वेद की एक खासियत यह भी है की इसका इलाज़ हमारे घर के आँगन में उपलब्ध कई चीजों के द्वारा किया जा सकता है ।

fast food and unhealthy eating concept – close up of fast food snacks and coca cola drink on wooden table

आज हर मौसम में सभी तरह की चीज़ें उपलब्ध है और इस वजह से हम हर मौसम में सभी चीजों का सेवन आसानी से कर लेते हैं पर हर मौसम में हर चीज़ का सेवाना करना बिलकुल भी अच्छा नही होता यह बात हम आयुर्वेद के जरिये जन सकते हैं पहले के समय में सब्जियाँ और फलों को खाने का समय निश्चित था वह हमेशा उपलब्ध नहीं होती थी इस वजह से लोग ज्यादा स्वस्थ रहते थे आइये जानते हैं की किन चीजों का सेवन कब नही करना चाहिए ।

दरअसल हर मौसम की अपनी खासियत होती है और उस हिसाब से उस  मौसम का खानपान होता है और इसकी वजह होती थी उस मौसम की तासीर और हवा जैसे सर्दी में यदि बसी खान भी खा लिया जाये तो वह नुकसान नही करता पर यदि गर्मी में सेवन किया जाये तो वह उसको बीमार कर सकता है । इन्हीं कराओन से कब कौनसी चीज़ का सेवन निषेध है आइये जानते हैं इस विशेष खबर के बारे में ।

चैत्र माह में गुड़ नहीं खाना चाहिए।

वैशाख मास में नया तेल लगाना मना है।

जेठ माह में दोपहर में बाहर नहीं जाना चाहिए ।

आषाढ़ मास में पका बेल नहीं खाना चाहिए।

सावन मास में साग का सेवन नहीं करना चाहिए ।

भादो मास में दही नहीं खाना चाहिए ।

क्वार मास में करेला का सेवन नहीं करना चाहिए।

कार्तिक मास में बैंगन और जीरा का सेवन नहीं करना चाहिए।

माघ मास में मूली और धनिया नहीं खानी चाहिए और फागुन मास में चना नहीं खाना चाहिए ।

10 मिनिट के बाद राखी हुई चाय का सेवन नही करना चाहिए इससे पेट की बीमारी होती है और मोटापा बढ़ता है । चावल का सेवन ताज़ा बना हुआ ही करना चाहिए यह ज्यादा देर रखने पर या फिर पुराना या बासी होने पर खराब हो जाता है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here