भारत में 2018 में करीब 5.4 लाख टीबी के मामले दर्ज नहीं हुएः विश्व स्वास्थ्य संगठन

0
52
An illustration shows a man exhaling smoke from an electronic cigarette in Washington, DC on October 2, 2018. - In just three years, the electronic cigarette manufacturer Juul has swallowed the American market with its vaporettes in the shape of a USB key. Its success represents a public health dilemma for health authorities in the United States and elsewhere. (Photo by EVA HAMBACH / AFP) (Photo credit should read EVA HAMBACH/AFP/Getty Images)

जयपुर। दुनिया में टीवी के सर्वाधिक मामले वाले 8 देशों में शुमार भारत ने पिछले साल इस बीमारी में करीब 5.4 लाख मामलों को दर्ज नहीं किया है विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ को टीवी रिपोर्ट में यह बात बताई गई है.

वहीं रिपोर्ट के अनुसार भारत में 2018 में टीवी के मरीजों की संख्या में पिछले साल की तुलना में लगभग 50000 की कमी आई है. वहीं साल 2017 में भारत में टीवी के करीब 27 दशमलव 400000 मरीज थे जो साल 2018 में घटकर 26.9 लाख हो गए हैं वहीं प्रति एक लाख लोगों पर टीवी मरीजों की संख्या साल 2017 के 2004 से घटकर साल 2018 में 199 हो गई है.

वहीं डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया भर के टीवी में 30 लाख मामले राष्ट्रीय टीवी कार्यक्रम में दर्ज नहीं हो पाते हैं और भारत में 2018 में टीवी के करीब 26.9 लाख मामले सामने आए हैं और 21.5 लाख मामले भारत सरकार के राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत दर्ज किए गए हैं और इसी को लेकर करीब 540000 मरीजों के मामले इस कार्यक्रम में दर्ज नहीं हुए हैं.

वहीं जिन रोगियों का टीवी रोधी महत्वपूर्ण दवा ऋषि निष्प्रभावी रही उनकी संख्या 2017 में 32% से बढ़कर 2018 में 46% हो गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here