श्रीलंका में बारिश से हुए हादसों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 9 हुई

0
114

श्रीलंका में भारी बारिश के चलते हुए विविभन्न हादसों में मरने वालों की संख्या बढ़कर मंगलवार को नौ हो गई। हजारों लोगों को अपने घर खाली पड़ने हैं। आपदा प्रबंधन केंद्र (डीएमसी) ने यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, डीएमसी के प्रवक्ता प्रदीप कोडिप्पिली ने कहा कि दक्षिण में कुछ क्षेत्रों में 100 मिलीलीटर से बारिश दर्ज की गई है, जबकि मंगलवार और बुधवार को अधिक बारिश होने की उम्मीद है।

शनिवार को बारिश शुरू होने के बाद से 48,000 से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं, जबकि 5,000 से ज्यादा परिवारों ने अपने घरों को खाली कर दिया है और 21 ने सुरक्षित आश्रय शिविरों में शरण ले रखी है।

भारी बारिश के चलते प्रमुख जलाशयों के पानी बाहर निकालने के लिए गेट खोले जाने के कारण निचले इलाकों में रहने वाले लोगों से भी घरों को खाली करने का आग्रह किया गया।

दक्षिण में कलुतुरा जिले में भूस्खलन की चेतावनी भी जारी की गई थी। कोडिप्पिली ने कहा कि सेना ने जोखिम वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को निकालकर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाना शुरू कर दिया है।

सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर सुमित अथपाथु ने कहा कि बाढ़ में फंसे लोगों की सहायता के लिए 1,200 अतिरिक्त सैनिकों को रख गया है।

गृह मामलों के मंत्री वाजिरा एबेवडर्ना ने कहा कि बचाव दल के साथ सरकार पके हुए भोजन, पेयजल, ड्राई राशन और दवाएं प्रदान करके प्रभावित लोगों को तत्काल राहत प्रदान कर रही है।

मौसम विज्ञान विभाग ने अपने नवीनतम मौसम अपडेट में कहा कि आने वाले दो दिनों में भारी बारिश की आशंका है।

उवा प्रांत में लगभग 100 मिलीमीटर की भारी बारिश होने की आशंका है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleबॉलीवुड के ये सुपरस्टार नहीं बोल पाते अंग्रेजी ,कई बार लोगों ने उड़ाया मजाक
Next articleटीवी के संस्कारी बाबू पर लगा रेप का आरोप! प्रोड्यूसर की आपबीती सुनकर हिल जाएगा आपका दिमाग
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here