80 प्रतिशत से भी ज्यादा टैक्स लगता है पेट्रोल पर, जानिए पूरा गणित

0
87

जयपुर। देश में बढ़ते पेट्रोल के दाम आम आदमी के लिए मुसीबत बनते जा रहे है, लेकिन फिर भी सरकार पेट्रोल के दाम कम करने का नाम नहीं ले रही है। इसी बात के साथ ये सवाल उठता है की क्या सरकार देश में पेट्रोल के दाम कम कर सकती है तो इसका जवाब है ‘हां’। सरकार इस वक्त पेट्रोल पर भारी टैक्स लगा रही है और सरकार इस टैक्स में कटोती कर देश में पेट्रोल के दाम को कम कर सकती है।

सरकार इस पेट्रोल पर कितना टैक्स लगा रही है उस बात ओ समझने के लिए हम इन पेट्रोल के दाम को दिल्ली के दामों से देखगे ताकि आम सही सही समझ सके। ये सभी दाम हम आपको चार सितम्बर के आंकड़ो को लेकर बता रहे है।

जो पेट्रोल आप और हम खरीदते है उस पेट्रोल के दाम में सरकार का टैक्स और डीलर का कमीशन भी होता है तो अगर बात शुरू करे तो तो डीलर जिस भाव में पेट्रोल खरीदता है वो दाम दिल्ली में है करीब 39.21 रुपए इस पर डीलर अपना कमीशन जोड़ता है जो की है 3.63 रुपए जिसके बाद पेट्रोल के दाम हो जाता है 42.83 रुपए यानी ये दाम होता है पेट्रोल को बिना किसी टैक्स के। अब सरकार इस दाम में अपना टैक्स जोडती है।

टैक्स में आता है एक्साइज ड्यूटी जो की है 19.48 रुपए है, और उसके बाद लगता है वैल्यू एडेड टैक्स जो की राज्य के खाते में जाता है जो की दिल्ली में है 16. 83 रुपए आपको बता दे की हर राज्य का वैल्यू एडेड टैक्स अलग अलग होता है। अब अगर आप दोनों टैक्स को मिलते है तो पूरा टैक्स होता 36.31 रुपए।

Image result for मुंबई दिल्ली से भी महंगा है पेट्रोल इन शहरों में

यानी पेट्रोल का भाव 42.83 रुपए और उस पर टैक्स 36.31 रुपए। यानी एक लीटर पेट्रोल की का=खरीद पर सरकार को करीब 85 प्रतिशत टैक्स हम दे रहे है। अब अगर इस पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लेकर आया जाए तो इस पेट्रोल के दाम कई हद तक कम किए जा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here