होटल, ढाबा, रेस्तरा बंद होने से 60 फीसदी घटी सब्जियों की मांग

0

कोरोनावायरस के खिलाफ संग्राम में प्रभावी कदम के तौर पर जारी देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान होटल, ढाबा, रेस्तरां समेत खान-पान की दुकानें बंद होने से सब्जियों और फलों की खपत कम होने के कारण देश की राजधानी दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में इनकी मांग काफी कम हो गई है।

चैंबर ऑफ आजादपुर फ्रूट एंड वेजीटेबल्स मर्चेंट एसोसिएशन के प्रेसीडेंट एम. आर. कृपलानी ने आईएएनएस को बताया कि होटल, ढाबा और रेस्तरां बंद होने और दिल्ली के बाहर के कारोबरियों की खरीदारी नहीं होने से फलों व सब्जियों की मांग 60 फीसदी घट गई है।

उन्होंने कहा कि देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान फलों और सब्जियों की आपूर्ति घटने की उम्मीदों से कुछ लोग अपने स्टॉक को भरने लगे जिससे इनकी कीमतों मंे इजाफा हो गया लेकिन कुछ ही दिन बाद जैसे ही आपूर्ति में सुधार आया कीमतों में करीब 30 फीसदी की गिरावट आ गई।

कोरोनावायरस के प्रकोप की कड़ी को तोड़ने के मकसद से देशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन कर दिया गया है जो 14 अप्रैल तक जारी रहेगा हाालांकि इस दौरान आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई जारी रखी गई है। मांग के मुकाबले आपूर्ति ज्यादा होने से सब्जियों और फलों की कीमतें थोकमंडियों से लेकर खुदरा दुकानों में घट गई हैं।

आजादपुर कृषि उत्पाद विपणन समिति यानी एपीएमसी के चेयरमैन आदिल अहमद खान ने भी कहा कि मंडी में मांग के मुकाबले आपूर्ति अधिक होने से कीमतों में नरमी आई है। उन्होंने कहा कि आजादपुर मंडी से पूरे उत्तर भारत में फलों की सप्लाई होती है, लेकिन लॉकडाउन के बाद से मंडी से सप्लाई प्रभावित हुई जबकि आवक नियमित तौर हो रही है।

बाजार सूत्रों के अनुसार, फलों और सब्जियों की खपत मांग में कमी होने से इसकी आपूर्ति भी थोक मंडियों में घट गई है। कारोबारियों ने कहा कि एक तरफ होटल, ढाबा व रेस्तरा बंद हैं वहीं, कार्यक्रम व समारोहों का भी आयोजन नहीं हो रहा है जिसके कारण फलों और सब्जियों की मांग घट गई है।

आजादपुर एपीएमसी के पूर्व चेयरमैन राजेंद्र शर्मा ने कहा कि खपत मांग में नरमी से प्याज, आलू, टमाटर और अन्य हरी सब्जियों की कीमतों में गिरावट आई है। उन्होंने बताया कि प्याज के दाम मंे लॉकडाउन के दौरान करीब सात रुपये प्रति किलो की नरमी आई है। शर्मा ने बताया कि बड़े परिमाण खरीदारी करने वाले खरीदारों के मंडी में नहीं आने से मांग में भारी गिरावट आई है।

बाजार सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आलू का थोक भाव इस समय 13-16 रुपये प्रति किलो है जो लॉकडाउन के शीघ्र बाद 15-22 रुपये प्रति किलो तक हो गया था। इसी प्रकार, प्याज का थोक भाव 15-26 रुपये से घटकर 9-16 रुपये प्रति किलो हो गया है।

राजेंद्र शर्मा ने कहा कि सब्जियों की मांग कमजोर होने से किसानों को उनकी फसल का वाजिब भाव नहीं मिल रहा है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleकोरोना रोकथाम की प्रयोगशाला बना छत्तीसगढ़
Next articleओपो एक्स 2 लाइट की इमेज और फुल स्पेसिफिकेशन लीक हुए
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here