यूपी में कोरोना के 502 नए मरीज, कुल संक्रमित 9733, अब तक 257 मौतें

0

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का फैलाव तेजी से बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को 502 नए मरीजों की पहचान होने से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9733 तक पहुंच गई है। अभी तक इससे 5648 लोग पूर्णतया ठीक होकर घर जा चुके हैं। संक्रमण से अब तक 257 लोग दम तोड़ चुके हैं। संक्रामक रोग विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ़ विकासेंदु अग्रवाल ने बताया कि आगरा में 928, मेरठ में 493, गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में 609, लखनऊ में 442, कानपुर शहर में 466, गजियाबाद में 384, सहारनपुर में 264, फिरोजाबाद में 304, मुरादाबाद में 249, वाराणसी में 219, रामपुर में 197, जौनपुर में 249, बस्ती में 220, बाराबंकी में 168, अलीगढ़ में 177, हापुड़ में 158, बुलंदशहर में 167, सिद्धार्थनगर में 142, अयोध्या में 128, गाजीपुर में 154, अमेठी में 183, आजमगढ़ में 143, बिजनौर में 137, प्रयागराज में 117, संभल में 127, बहराइच में 95, संत कबीर नगर में 135, प्रतापगढ़ में 87, मथुरा में 97, सुल्तानपुर में 97, गोरखपुर में 122, मुजफ्फरनगर में 100, देवरिया में 121, रायबरेली में 74 और लखीमपुर खीरी में भी 74 लोग कोरोना के मरीज हो चुके हैं।

इसी तरह गोंडा में 77, अमरोहा में 68, अंबेडकर नगर में 81, बरेली में 68, इटावा में 67, हरदोई में 96, महराजगंज में 73, फतेहपुर में 55, कौशांबी में 49, कन्नौज में 88, पीलीभीत में 49, शामली में 50, बलिया में 53, जालौन में 48, सीतापुर में 44, बदायूं में 43, बलरामपुर में 47, भदोही में 46, झांसी में 46, चित्रकूट में 59, मैनपुरी में 65, मिर्जापुर 36, फरु खाबाद में 48, उन्नाव में 41, बागपत में 76, औरैया में 39, श्रावस्ती में 42, एटा में 50, बांदा में 27, हाथरस में 35, मऊ में 52, चंदौली में 27, कानपुर देहात में 21, शाहजहांपुर में 39, कासगंज में 23, कुशीनगर में 44, महोबा में 14, सोनभद्र में 9, हमीरपुर में 8 और ललितपुर में 3 लोग कोरोना पॉजिटिव मरीज हैं।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleकृषि बाजार सुधार के 2 अध्यादेशों की अधिसूचना जारी
Next articleमोर्निंग न्यूज बुलेटिन, शनिवार 06 जून, डालिए एक नजर बड़ी खबरों पर !
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here