Covid 19 Rajasthan: राजस्व घाटे ने बढ़ाई चिंता, राजस्थान में हर शख्स पर 50 हजार का कर्ज….

0

कोरोना संकट से देश की अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर पड़ा है। इस बीच राजस्थान के लिए आर्थिक मोर्चे पर चिंता के बादल छाए हैं। मौजूदा वित्त वर्ष के पहले 6 महीने में ही सरकार का राजस्व घाटा 27,858 करोड़ रुपए तक जा पहुंचा है। प्रदेश पर अब तक 3.79 लाख करोड़ का कर्ज भी चढ़ गया है। इस गणित पर नजर डालें तो 7.5 करोड़ की कुल आबादी के हिसाब से प्रदेश के हर व्यक्ति पर करीब 50533 रुपये का कर्ज है। यह अब तक का सबसे ज्यादा दर्ज हुआ है।

आगामी बजट से पहले गहलोत सरकार ने मंगलवार को अपनी वित्तीय सेहत की छमाही रिपोर्ट पेश की। उसी रिपोर्ट से ये आंकड़े निकलकर सामने आए हैं। राजस्थान फिस्कल रिस्पांसिबिलिटी बजट मैनेजमेंटट के तहत जारी रिपोर्ट में सरकार ने अप्रैल से सितंबर तक अपने खर्च और आमदनी को लेकर जानकारी सार्वजनिक की है। गौरतलब है कि आमदनी और खर्च के अंतर को राजस्व घाटा माना जाता है। इस अवधि में आमदनी 55096 करोड़ रुपये और खर्च 83055 करोड़ रुपये रहा है।

बीते वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले इस बार सरकार का प्रत्यक्ष कर संग्रह 13.56 फीसदी और अप्रत्यक्ष कर संग्रह 34.64 फीसदी कम दर्ज हुआ है। पूरे वित्त वर्ष के लिए सरकार ने  33922 करोड़ रुपये राजकोषीय घाटे का अनुमान लगाया है। उम्मीद की जा रही है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद धीरे-धीरे सरकार का करक राजस्व बढ़ता जा रहा है। ऐसे में अगले 6 महीनों में राजस्व घाटे की भरपाई हो सकती है।

Read More…
Corona Vaccine Price: भारत में कोरोना वैक्सीन मिलेगी सबसे सस्ती, 300 से भी कम है कीमत…
Virat Kohli Anushka Baby Girl: इतने करोड़ के आलीशान घर में रहेंगी अनुष्का-विराट की बेटी Anvi….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here